धर्म

अगर आपकी भी अपने पार्टनर से नहीं बनती तो कुंडली में हो सकता है गुरु चांडाल दोष, जानिए इसका सटीक उपाय

By Vinod Kumar -- September 10, 2022 2:40 pm -- Updated:September 10, 2022 3:06 pm

कुछ मामलों में देखने में आता है कि विधि-विधान से लिए गए सात फेरों के कुछ वक्त बाद ही पति-पत्नी के रिश्ते में दरार पड़ती जाती है। वे लाख कोशिश ही क्यों न कर लें, एक-दूसरे से कभी संतुष्ट नहीं हो पाते हैं। इसके सबसे बड़े कारणों में से एक हो सकता है दोनों में से किसी एक की कुंडली में मौजूद गुरु चांडाल दोष।

जब राहु और गुरु जीवनसाथी के घर (सातवें घर) या सुख के घर (चौथे घर) में एक साथ बैठे होते हैं, तो दाम्पत्य जीवन का सुख जातक को नहीं मिल पाता है। ऐसे में दम्पत्ति को इसके लिए उचित अनुष्ठान करने के साथ ही भगवान विष्णु की खूब आराधना करने की सलाह दी जाती है।

ऐसा कहना है भूमिका कलम का, जो एक जानी-मानी ज्योतिष हैं। उन्होंने हाल ही में स्वदेशी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, कू ऐप पर एक वीडियो साझा किया है, जिसमें गुरु चांडाल दोष और इसके निवारण की जानकारी दी गई है।

आपकी कुंडली में यह दोष तो नहीं?
इससे विवाह प्रभावित हो सकता है, यदि आपकी कुंडली में यह दोष होता है। अपने पार्टनर के साथ अपनी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए यह उपाय कर सकते हैं। नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर वीडियो में देख सकते हैं।

 


वीडियो में बताया गया है कि यदि आपकी कुंडली में गुरु चांडाल दोष है, यानी राहु और गुरु की युति आपके सातवें घर अर्थात् जीवनसाथी के घर में है, या फिर चौथे भाव अर्थात् आपके सुख के घर में है, तो पति-पत्नी का रिश्ता तलवार की धार पर चलने के समान होता है। ऐसे जातक कभी-भी अपने रिश्ते से संतुष्ट नहीं होते हैं। इस दोष के निवारण के लिए जातक को अनुष्ठान तो कराना ही चाहिए, साथ ही पति-पत्नी को साथ में भगवान विष्णु की खूब आराधना करनी चाहिए। इससे दोनों का रिश्ता मजबूत होगा।

  • Share