हरियाणा

अब महिलाओं को और नहीं सहना पड़ेगा सर्वाइकल कैंसर का दर्द, भारत में लॉन्च हुआ पहला स्वदेशी टीका

By Vinod Kumar -- September 01, 2022 5:13 pm

महिलाओं में होने वाले सर्वाइकल कैंसर का स्वदेशी टीका आज देश को मिल गया। सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम के लिए पहला स्वदेसी विकसित ‘क्वैड्रीवैलेंट ह्यूमन पेपीलोमा' टीका आज लॉन्च कर दिया गया। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और सीरम इंस्चिच्यूट के सीईओ अदर पूनावाला आईआईसी दिल्ली में इसे लॉन्च किया।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि टीका लाभदायक सिद्ध होगा। सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि यह आमजन के लिए उपलब्ध हो। वैज्ञानिक प्रक्रिया पूरी होने का अर्थ है कि टीके से संबंधित अनुसंधान एवं विकास कार्य पूरा हो चुका है और अब अगला चरण उसे आमजन के लिए उपलब्ध करवाना है।

India's first vaccine against cervical cancer to be launched on Sept 1

सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिए सीरम इंस्टीट्यूट की ओर से तैयार की गई स्वदेशी वैक्सीन HPV vaccine अगले कुछ महीनों में भारतीय मार्केट में उपलब्ध होगी। सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम के लिए यह देश में बना पहला टीका है। पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ने इस वैक्सीन का निर्माण किया है। इस वैक्सीन का नाम क्वाड्रिवेलेंट ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (HPV) है।

वैक्सीन की कीमत 200 से 400 रुपए के बीच हो सकती है। सीरम इंस्चिच्यूट के सीईओ आदर पूनावाला ने कहा कि अभी अंतिम कीमत तय नहीं की गई है। पूनावाला ने कहा कि सर्वाइकल कैंसर की वैक्सीन अगले कुछ महीने में देश में उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि इस वैक्सीन को पहले देश में उपलब्ध कराई जाएगी उसके बाद दुनिया में सप्लाई की जाएगी।

सर्वाइकल कैंसर एक प्रकार का कैंसर है। ये महिलाओं में पाया जाता है। महिलाओं में गर्भाशय के निचले हिस्से में यूट्रस और वजाइना से जुड़ने वाली सिलेंडर नुमा नाली को सर्विक्स कहा जाता है। ज्यादातर सर्वाइकल कैंसर गर्भाशय की बाहरी सतह पर जो सेल्स होते हैं। वहां से शुरू होते हैं। असामान्य खून का बहाव, पेल्विस में दर्द और पेशाब करने के दौरान दर्द होना आदि इसके लक्षण हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, देश में हर साल 1 लाख 67 हजार से ज्यादा मामले सर्वाइकल कैंसर के आते हैं। इसमें से 60 हजार से ज्यादा महिलाओं की मौतें हो जाती हैं।

 

  • Share