adv-img
हरियाणा

RGF: राजीव गांधी फाउंडेशन पर विदेशी फंडिंग के आरोप में बड़ी कार्रवाई, केंद्र सरकार ने लाइसेंस किया रद्द

By Vinod Kumar -- October 23rd 2022 11:50 AM

Rajiv Gandhi Foundation: केंद्र सरकार ने रविवार को गांधी परिवार से जुड़े NGO राजीव गांधी फाउंडेशन (FGF) पर बड़ी कार्रवाई की है। सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय (MHA) ने राजीव गांधी फाउंडेशन का लाइसेंस रद्द किया है। सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाले इस फाउंडेशन को अब विदेश से कोई फंडिंग नहीं मिलेगी।

गृह मंत्रालय ने ये कार्रवाई फोरगेन कन्ट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) एक्ट के तहत की है। आरोप है कि राजीव गांधी के नाम पर चल रही NGO ने नियमों और कानून के कथित उल्लंघन का आरोप है। अब तक जो पैसा विदेशी फंडिंग से आया है, उसके स्रोत की भी जांच होगी। गृह मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जुलाई 2020 मे MHA ने मंत्रालय ने जांच कमेटी बनाई थी।

जांच के लिए इंटर मिनिस्ट्रियल समिति का गठन किया था। मंत्रालय ने मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम (PMLA), आयकर अधिनियम, विदेशी चंदा विनियामक अधिनियम (FCRA) आदि के विभिन्न कानूनी प्रावधानों के उल्लंघन की जांच के लिए इस समिति का गठन किया था। इस जांच कमेटी में गृह मंत्रालय, ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स के अधिकारी शामिल थे।

कांग्रेस पार्टी के लिए यह बहुत बड़ा झटका है। (RGF) पर पहली बार 2020 में विदेशी फंडिंग के आरोप लगे थे। कहा गया था कि फाउंडेशन को चीन से 90 लाख रुपए की विदेशी फंडिंग मिली है। कानूनों को ताक पर रखते हुए यह फंडिंग की गई थी। इसके बाद ये जांच राजीव गांधी फाउंडेशन के खिलाफ शुरू की गई थी। अब इसका एफसीआरए लाइसेंस (FCRA licence) रद्द करने का फैसला किया गया है।

बता दें कि राजीव गांधी फाउंडेशन (Rajiv Gandhi Foundation) की अध्यक्ष सोनिया गांधी हैं। इसके अलावा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम इसके ट्रस्टी हैं।

राजीव गांधी फाउंडेशन की स्थापना सोनिया गांधी के नेतृत्व में जुलाई 1991 में हुई थी। 2009 तक स्वास्थ्य, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, महिलाओं और बच्चों, विकलांगता सहायता आदि सहित कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर इस एनजीओ ने काम किया है। राजीव गांधी फाउंडेशन वेबसाइट के अनुसार, संगठन ने शिक्षा क्षेत्र में भी काम किया है।

  • Share