शिक्षा के पवित्र मंदिर में बच्चों के साथ यूं हो रहा है ‘पाप’ !

ROHTAK GURUKUL CASE
रोहतक, 27 अगस्त: रोहतक के गुरुकुल भैयापुर लाढौत में बच्चों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। गुरूकुल के पांचवीं और सातवीं में पढ़ने वाले कुछ बच्चों ने दसवीं व बारहवीं क्लास के कुछ बच्चों पर उनका यौनशोषण करने का आरोप लगाया है। हालांकि गुरुकुल प्रबंधन ने इसे बच्चों का आपसी विवाद बताया है, गुरुकुल संचालक आचार्य हरिदत्त की मानें तो पहले शिकायत मिली थी जिसमें आपसी विवाद की बात सामने आई थी। हालांकि संचालक के सफाई दिए जाने के बावजूद प्रबंधन के खिलाफ भी धारा 202 के तहत दर्ज किया गया है।
कैसे हुआ मामले का खुलासा !
 
गौरतलब है कि रोहतक में यह गुरुकुल 1991 से चल रहा है, जहां दिल्ली, उत्तरप्रदेश और हरियाणा के कई ज़िलों से बच्चे पढ़ रहे हैं और उनकी संख्या 5वीं से 10वीं कक्षा के बीच लगभग 160 है। मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को रक्षाबंधन के मौके पर बच्चों के परिजन मिलने पहुंचे थे। इसी दौरान एक बच्चे ने परिजनों को अपने साथ हुए यौन शोषण की बात बताई। इसके बाद 5 और बच्चे सामने आए, जिन्होंने भी अपने साथ हुए आपत्तिजनक बर्ताव की बात कही। बच्चों का तो यहां तक कहना था कि इस बारे में जब गुरुकुल प्रशासन को सूचित किया तो उन्होंने मामले को दबा दिया।
पुलिस ने शुरू की जांच
 
बाद में बच्चे व परिजन सदर पुलिस स्टेशन पहुंचे और एक पीड़ित बच्चे की मां ने शिकायत दर्ज कराई। इस शिकायत में मारपीट, कुकर्म और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया गया है।  शिकायत मिलते ही सदर पुलिस ने 7 बच्चों के खिलाफ विभिन्न धाराओं व पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 202, 34, 377 व 506 एवं पॉक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।
ROHTAK GURUKUL CASE

अब तक क्या हुआ !

ताज़ा जानकारी के मुताबिक पुलिस ने गुरुकुल के वार्डन सहित 5 नाबालिग छात्रों को हिरासत में लिया है। पुलिस कप्तान जशनदीप रंधावा ने यौन उत्पीड़न मामले मे कड़ा संज्ञान लेते हुए उप-पुलिस अधीक्षक नारायण चन्द के नेतृत्व में टीम को त्वरित कारवाई करने के दिशा निर्देश दिए हैं। सूत्रों की मानें तो आरोपी वॉर्डन सचिन दादरी ज़िले के बौंद कलां का रहने वाला है जबकि जो सीनियर स्टूडेंट्स हिरासत में लिए गए हैं वे सभी नाबालिग हैं। इसी बीच सीडब्ल्यूसी चेयरमैन राजसिंह की टीम ने भी सोमवार शाम को गुरुकुल में जाकर मामले की पड़ताल की । राजसिंह के मुताबिक बच्चे सदमे में हैं और उन्हें काउंसलिंग के ज़रिए सदमे से बाहर निकाला जाएगा । अब तक कुल 150 बच्चों की काउंसलिंग कराई जा चुकी है । सांगवान ने साफ किया है कि दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।