राजनीति

पंजाब में 5वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए 7 जनवरी से दोबारा खुलेंगे स्कूल 

By Arvind Kumar -- January 06, 2021 5:04 pm -- Updated:January 06, 2021 5:04 pm

चंडीगढ़। पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला ने कहा कि राज्य सरकार ने 7 जनवरी से सभी सरकारी, अर्ध-सरकारी और प्राईवेट स्कूल दोबारा खोलने का फैसला किया है। सिंगला ने बताया कि स्कूलों का समय प्रात:काल 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक रहेगा और सिर्फ पाँचवी से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को ही स्कूलों में आकर कक्षाएं लगाने की अनुमति दी जायेगी।

Punjab School पंजाब में 5वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए 7 जनवरी से दोबारा खुलेंगे स्कूल

विजय इंदर सिंगला ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अपनी सहमति देते हुए शिक्षा विभाग को कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बच्चों की सुरक्षा यकीनी बनाने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों की पालना करते हुये सभी स्कूल प्रबंधकों को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी की हिदायतों की कठोरता से पालना करने के लिए कहा गया है जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को रोका जा सकता है।

Punjab School पंजाब में 5वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए 7 जनवरी से दोबारा खुलेंगे स्कूल

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि शिक्षा विभाग ने स्कूलों के मुखियों से प्रतिक्रियाएं ली थी और बच्चों की सुरक्षा यकीनी बनाने के साथ-साथ मुखियों ने विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षाओं के लिए अंतिम समीक्षा से पहले पुन: स्कूल खोलने की विनती की थी।

यह भी पढ़ें- खटकड़ टोल पर धरना स्थल पर बैठे किसानों के बीच पहुंचे सुरजेवाला, मोदी सरकार पर बोला हमला

यह भी पढ़ें- केंद्र के साथ कल होने वाली बातचीत से पहले किसान नेता चढूनी का बड़ा बयान

Punjab School पंजाब में 5वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए 7 जनवरी से दोबारा खुलेंगे स्कूल

विद्यार्थियों को मानक शिक्षा सहूलियतें प्रदान करने के लिए कोरोना योद्धा के तौर पर कार्य करने वाले अध्यापकों की सराहना करते हुये शिक्षा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पिछले वर्ष 7 टीवी नवंबर को एक मेगा प्रोग्राम की अध्यक्षता करते हुये बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्मार्ट फोनों के वितरण के अवसर पर ‘मिशन शत प्रतिशत’ की शुरुआत की थी। इस ऐलान के बाद समूचा शिक्षा विभाग खासकर स्कूलों के अध्यापक मुख्यमंत्री के सपने को हकीकत में बदलने के लिए पूरी तरह जुट गए हैं।

  • Share