हरियाणा

हरियाणा: ट्रांसफर ड्राइव की प्रक्रिया पूरी, शिक्षकों के तबादला आदेश जारी...40% शिक्षकों को मिला पहली पसंद का स्कूल

By Vinod Kumar -- August 28, 2022 5:24 pm

चंडीगढ़: शिक्षा विभाग की ओर से ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव की प्रक्रिया पूरी कर शिक्षकों के तबादला आदेश जारी कर दिए गए हैं। विभाग की ओर से तबादला आदेशों के बारे में जानकारी देते हुए सेकेंडरी शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ अंशज सिंह ने बताया कि ट्रांसफर ड्राइव को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए विभाग की ओर से लगातार प्रयास जारी थे।

कुछ तकनीकी कारणों के चलते ड्राइव पूरी करने में समय लगा, लेकिन अब विभाग की ओर से अधिकतर शिक्षकों को उनकी पसंद के मुताबिक स्कूल आवंटित किए गए हैं। तबादला आदेशों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए डॉ अंशज सिंह ने बताया कि इन तबादलों में प्रिंसिपल, हेड मास्टर, ईएसएचएम, पीजीटी और टीजीटी को शामिल किया गया था।

कुल 29464 शिक्षकों ने ट्रांसफर के लिए आवेदन किया था, जिसमें से 28,583 शिक्षकों के तबादले किये गए हैं। डॉ अंशज सिंह ने बताया कि तबादलों में पूरी तरह पारदर्शिता अपनाते हुए करीब 40 फीसदी शिक्षकों को पहली पसंद का स्टेशन अलॉट किया गया है, जबकि करीब 12 फीसदी शिक्षकों को दूसरी पसन्द अलॉट की गई है और करीब 7 फीसदी शिक्षकों को उनकी तीसरी पसन्द के स्टेशन पर भेजा गया हैं।

कुल मिलाकर करीब 60 फीसदी शिक्षकों को उनकी पहली तीन पसन्द के स्कूल अलॉट किये गए हैं,जो कि सफल ट्रांसफर ड्राइव का परिणाम है। करीब 3 फीसदी शिक्षक ऐसे हैं जिनके तबादला आदेश जारी नही किये गए, ऐसे शिक्षकों को दोबारा से मौका दिया जाएगा। तबादला उपरांत सभी शिक्षकों को अगले 7 दिनों में कार्यभार ग्रहण अनिवार्य होगा।

गौरतलब है कि ट्रांसफर ड्राइव को जल्द और निष्पक्ष तरीके से पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल और शिक्षामंत्री कंवरपाल गुर्जर की ओर से विशेष तौर पर दिशा निर्देश जारी किए गए थे। स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ महावीर सिंह, निदेशक सेकेंडरी शिक्षा विभाग डॉ अंशज सिंह की तरफ से भी कोशिश यही थी कि इस ट्रांसफर ड्राइव से ज्यादा से ज्यादा छात्रों को शिक्षक और शिक्षकों को छात्र उपलब्ध करवाए जाएं।

तबादला प्रक्रिया से सम्बंधित किसी भी समस्या के लिए शिक्षकों को सुगम सम्पर्क पोर्टल पर आवेदन करने के निर्देश दिए गए हैं।विभाग की पूरी कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा शिक्षकों को इस ट्रांसफर ड्राइव में सन्तुष्ट किया जाए, ताकि छात्रों की पढ़ाई निर्बाधित रूप से हो सके।विभाग ने तबादला प्रक्रिया के सफल क्रियान्वन पर सभी शिक्षक वर्ग का भी आभार जताया है। जिन्होंने समय समय पर तबादले से जुड़ी समस्याओं के निराकरण में अहम भूमिका निभाई।

विभाग पंजाबी विषय के शिक्षकों को फिर से स्कूल चयन का एक और मौका देने जा रहा है। डॉ. अंशज सिंह के मुताबिक ट्रांसफर ड्राइव में बचे शिक्षकों को जल्द ही दूसरे ड्राइव में मौका दिया जाएगा। इसके तुरंत बाद पीआरटी के लिए ट्रांसफर ड्राइव शुरू किया जाएगा और जल्द ही पीआरटी को Yes /No के ऑप्शन दिए जाएंगे। पीआरटी को वरिष्ठता के आधार पर (साल 2004 बैच या उससे पहले के बैच से लेकर 2017 बैच ) तक दो-दो दिन का समय देते हुए सभी जेबीटी को स्कूल चयन का मौका दिया जाएगा।

  • Share