प्रमुख खबरें

चंडीगढ़ प्रशासक ने इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

By Arvind Kumar -- August 11, 2021 4:55 pm -- Updated:August 11, 2021 4:56 pm

चंडीगढ़। राज्यपाल पंजाब और प्रशासक यूटी चंडीगढ़ वीपी सिंह बदनौर ने आज राजभवन से इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाई। उन्होंने राजभवन से पुलिस स्टेशन, सेक्टर 17 और उसके बाद इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, चंडीगढ़ के लिए उसी बस में यात्रा भी की। प्रोटो बस लगभग 20 दिनों के लिए शहर की परिस्थितियों के हिसाब से परीक्षण के लिए चलेगी। शुरुआत में ट्रायल के दौरान बस को पीजीआई- मनीमाजरा वाया मध्य मार्ग रूट पर चलाया जाएगा।

सितंबर 2021 के पहले सप्ताह से आम जनता के लिए बस का संचालन अस्थायी रूप से किया जाएगा। इसके अलावा 19 बसें 30 सितंबर 2021 तक और अन्य 20 अक्टूबर 2021 तक प्राप्त होने की संभावना है। अन्य 40 इलेक्ट्रिक बसों की खरीद प्रक्रियाधीन है और उम्मीद है कि अगले वर्ष उन्हें प्राप्त किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- हिमाचल में 22 अगस्त तक स्कूल बंद, बाहरी राज्यों से आने वाले व्यक्तियों के लिए बदला नियम

यह भी पढ़ें- दो बहनों की गैंगरेप के बाद हत्या, आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस टीमें कर रही छापेमारी

दरअसल फेज- II FAME इंडिया योजना के तहत 80 इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी गई है। 40 बसों की पहली खेप के लिए मेसर्स अशोक लीलैंड के साथ 10 साल के लिए करार किया गया है। परिवहन विभाग ने 2027-2028 तक ट्राई सिटी की सभी 358 डीजल बसों को इलेक्ट्रिक बसों से बदलने की योजना बनाई है।

बसें निम्नलिखित सुविधाओं से लैस हैं

1. व्यक्तिगत एयर वेंट के साथ एयर कंडीशनिंग सिस्टम

2. 35 यात्रियों और 20 स्टैंडी की बैठने की क्षमता।

3. सैलून क्षेत्र के सामने, पीछे, किनारे और अंदर यात्री सूचना स्क्रीन।

4. वायवीय रूप से नियंत्रित यात्री दरवाजे।

5. आपात स्थिति में पैनिक बटन।

6. सीट की प्रत्येक पंक्ति के लिए मोबाइल चार्जिंग पॉइंट।

7. रियर में एयर सस्पेंशन।

  • Share