राजनीति

प्रदेश में शादियों की धाम अब पूर्णरूप से प्रतिबंधित, 10 मई तक बढ़ी सभी पाबंदियां

By Arvind Kumar -- April 29, 2021 3:45 pm -- Updated:April 29, 2021 3:45 pm

शिमला। हिमाचल में कोविड 19 की स्थिति लगातार बिगड़ रही है। जिसको देखते हुए निर्णय लिया गया कि प्रदेश में शादियों की धाम पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। इसके अलावा अब शादियों में 50 के बजाए 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। पिछली सभी बंदिशे 10 मई तक बढ़ा दी गई हैं। शाम को विधायक दल की बैठक में विधायकों से राय लेने के बाद लॉक डाउन व अन्य बंदिशों पर विचार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामले चिंता का विषय है। प्रदेश में मृत्यु दर भी बढ़ी है। प्रदेश में 16 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हो गए हैं। जिसको देखते हुए शादियों की धाम पर पूर्णतया प्रतिबंध होगा। शादियों में 50 की जगह अब 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे ताकि कोरोना संक्रमण को रोका जा सकें।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में बेड व ऑक्सीजन की कमी नहीं है। मास्क सेनेटाइजर वेंटिलेटर पर्याप्त मात्रा में है। मामले को देखते हुए प्राइवेट हॉस्पिटल के 50 फ़ीसदी बेड को लेने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ेंअगले दो दिन में अमेरिका से आएंगे 600 ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर

यह भी पढ़ें- हरियाणा सरकार बनाएगी ऑक्सीजन नियंत्रण कक्ष, यह होगा काम


कांगड़ा के सिटी हॉस्पिटल, विवेकानंद अपोलो व बालाजी हॉस्पिटल को लेने का निर्णय किया है। आयुर्वेद कॉलेज पपरोला की 200 बेड्स की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा परोर में राधा स्वामी सत्संगमें 200 बेड्स का प्रबंध किया जाएगा। शिमला में आयुर्वेद हॉस्पिटल के 50 बेड्स व आईजीएमसी में न्यू ओपीडी में भी 300 बेड्स की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग को बढ़ाने की दिशा में कदम उठाये जाएंगे। कोविड ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर्स को इंसेंटिव भी दिया जाएगा।

  • Share