Sun, Jan 29, 2023
Whatsapp

Kanjhawala case: कंझावला केस में 11 पुलिसकर्मी सस्पेंड, ड्यूटी पर लापरवाही बरतने पर हुई कार्रवाई

Kanjhawala case: दिल्ली कंझावला केस में 11 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। सभी पुलिसकर्मी घटना वाले दिन रोहिणी जिले में पीसीआीर और पिकेट पर तैनात थे। विशेष आयुक्त शालिनी सिंह की अध्यक्षता वाली जांच समिति द्वारा एक रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद यह कार्रवाई की गई। गृह मंत्रालय ने इलाके के डीसीपी से स्पष्टीकरण मांगा है। डीसीपी से वारदात वाले दिन कानून व्यवस्था को लेकर किए इंतजामों पर जवाब मांगा है।

Written by  Vinod Kumar -- January 13th 2023 03:10 PM
Kanjhawala case: कंझावला केस में 11 पुलिसकर्मी सस्पेंड, ड्यूटी पर लापरवाही बरतने पर हुई कार्रवाई

Kanjhawala case: कंझावला केस में 11 पुलिसकर्मी सस्पेंड, ड्यूटी पर लापरवाही बरतने पर हुई कार्रवाई

Kanjhawala case: दिल्ली कंझावला केस में 11 पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी है। पुलिस महकमे ने 11 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। सभी पुलिसकर्मी घटना वाले दिन रोहिणी जिले में पीसीआीर और पिकेट पर तैनात थे। ड्यूटी पर लापरवाही बरतने के आरोप में सभी कर्मियों को सस्पेंड किया गया है। 

विशेष आयुक्त शालिनी सिंह की अध्यक्षता वाली जांच समिति द्वारा एक रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद यह कार्रवाई की गई। गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को पीसीआर वैन, जांच चौकी के पर्यवेक्षण अधिकारियों को अपना कर्तव्य निभाने में असफल रहने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने का भी निर्देश दिया है। मामले की गंभीरता और उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर पुलिस कंझावला केस के आरोपियों पर 302 यानी हत्या की धारा लगाकर मामले की तफ्तीश करने का निर्देश दिए गए हैं।


इस केस में बड़े अधिकारियों पर गाज गिरना शुरू हो गई है। गृह मंत्रालय ने इलाके के डीसीपी से स्पष्टीकरण मांगा है। डीसीपी से वारदात वाले दिन कानून व्यवस्था को लेकर किए इंतजामों पर जवाब मांगा है। सही जवाब ना मिलने पर कर्रवाई के लिए कहा गया है। इसके साथ ही घटनास्थल के आस-पास के इलाकों में रौशनी की सही व्यवस्था करने को कहा गया है।

गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को मामले में जल्द से जल्द आरोपपत्र दायर करने का निर्देश दिया हैं, ताकि दोषियों को जल्द से जल्द सजा मिल सके। दिल्ली पुलिस को भी यह सुनिश्चित करने का कहा गया है कि जांच में कोई शिथिलता न हो और वो जांच की प्रगति के संबंध में गृह मंत्रालय को समय समय पर रिपोर्ट सौंपे।

जानकारी के लिए बता दें कि 31 दिसंबर की रात करीब 1.30 बजे कंझावला इलाके में अंजलि की स्कूटी को कार ने टक्कर मारी थी। टक्कर के बाद अंजलि का शव गाड़ी के नीचे फंस गया था। हादसे के बाद आरोपी रुकने की वजाय सड़क पर कार को भगाते रहे। आरोपियों ने अंजलि को लगभग 12 किमी तक घसीटा था। हादसे के बाद स्कूटी के पीछे बैठी उसकी दोस्त घर भाग गई थी। 


- PTC NEWS

adv-img

Top News view more...

Latest News view more...