अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त के गांव में तीन-तीन हत्याओं से खौफ का माहौल

Sonipat News 1
अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त के गांव में तीन-तीन हत्याओं से खौफ का माहौल

सोनीपत। (जयदीप राठी) अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त का गांव भेसवाल कलां उनकी पहलवानी के लिए देश ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के मानचित्र पर अपनी पहचान छोड़ चुका है लेकिन देर रात भैंसवाल कला गांव में दो साल से चली आ रही पुरानी रंजिश के चलते एक पक्ष के लोगों पर दूसरे पक्ष के दो लोगों की हत्या करने का आरोप है। वहीं इस मामले को लेकर कटवाल गांव में एक आदमी की हत्या की खबर भी सामने आई है। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

Sonipat News 3
अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त के गांव में तीन-तीन हत्याओं से खौफ का माहौल

वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम लिए गोहाना के नागरिक अस्पताल में भिजवा दिया और मामले की जांच शुरू कर दी है। इस घटना के बाद गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है और पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है।

Sonipat News 2
अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त के गांव में तीन-तीन हत्याओं से खौफ का माहौल

मामले की जांच कर रहे डीएसपी हंस राज ने बताया की इस मामले में 15 से ज्यादा लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर चार टीमों बनाई गई है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। दो साल से दो परिवारों की पुरानी रंजिश के चलते एक परिवार के कुछ लोगों ने बलबीर के भाई होशयार व् उनकी पत्नी निर्मला की हत्या की है। इसी मामले में एक कटवाल गांव के रहने वाले सुरेंद्र सिंह नामक शख्स की भी हत्या की गई है। तीनों ही हत्याओं का आरोप कृष्ण के गैंग के लोगों पर लग रहा है।

Sonipat News 4
अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त के गांव में तीन-तीन हत्याओं से खौफ का माहौल

वहीं इस हत्याकांड के बाद पुलिस प्रसाशन भी सवालों के कटघरे में आकर खड़ा हो गया है, क्योंकि जिस कृष्ण गैंग के बदमाशों ने 4 जून को बलबीर हत्याकांड को अंजाम दिया था, उन्हीं बदमाशों ने इस वारदात को सिरे चढ़ाया है, लेकिन पुलिस हाथ पर हाथ रखे तमाशबीन बनी हुई है और मीडिया के सामने रटा रटाया ज्ञान देकर चली जाती है, लेकिन बदमाशों को पकड़ने में असफल होती जा रही है।

यह भी पढ़ें : टूरिस्ट बस और ट्रक में जोरदार टक्कर, एक की मौत 15 घायल (Video)

—-PTC NEWS—

पीटीसी की खबरें देखने के लिए सब्सक्राइब करें यू ट्यूब चैनल