अपराध/हादसा

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में सूत्रों के हवाले से बड़ी जानकारी, शूटर्स ने बुलेट फ्रूफ गाड़ी की करवाई थी रेकी

By Vinod Kumar -- June 16, 2022 6:11 pm

गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के सिलसिले में गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई से पंजाब पुलिस पूछताछ कर रही है। पूछताछ में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं। वहीं, पंजाब पुलिस की SIT की जांच में सामने आया है कि मूसेवाला की हत्या से पहले उसकी बुलेटप्रूफ गाड़ी की भी रेकी की गई थी। ये जानकारी सूत्रों के हवाले से मिली है।

सूत्रों के मुताबिक बिश्नोई और गोल्डी बरार के शूटर्स को मालूम था कि मूसेवाला के पास बुलेट प्रूफ गाड़ी है। सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी के शीशे कितने MM के हैं ये जानने के लिए शूटर्स जालंधर में पता करने गए थे। बुलेट फ्रूफ गाड़ियां जालंधर में ही बनती हैं।

Sidhu-Moosewala-murder-case-update-4

जांच में ये भी सामने आया है कि शूटर्स ने जनवरी में भी सिद्धू मूसेवाला को मारने की कोशिश की थी, लेकिन उन्हें ये मालूम चला कि मूसेवाला के साथ AK-47 के साथ आठ कमांडो हैं तो उन्होंने अपना प्लान बदल लिया और मूसेवाला की हत्या के लिए नए सिरे से काम करना शुरू किया।

Sidhu Moosewala murder case update

सूत्रों की मानें तो बिश्नोई और गोल्डी बरार ने अपने शूटर्स को AN-94 जैसे मॉडर्न वैपन मुहैया करवाए, ताकि सिद्धू मूसेवाला की बुलेटफ्रूफ गाड़ी को भी निशाना बनाया जा सके। AN-94 असॉल्ट राइफल टू शॉट बर्स्ट ऑपरेशन का विकल्प देती है। यानी एक के पीछे एक दो गोलियां माइक्रो सेकेंड्स के अंतर में बाहर निकिलती हैं। सूत्रों की मानें तो इस राइफल की अगर दो गोलियां एकसाथ एक जगह पर फायर की जाएं तो बुलेटप्रूफ गाड़ी के शीशे को तोड़ा जा सकता है। इसलिए शूटर्स को AN-94 राइफल दी गई थी।

वहीं, लॉरेंस बिश्नोई से पंजाब पुलिस की पूछताछ लगातार जारी है। पूछताछ में बिश्नोई ने कई खुलासे किए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक लॉरेंस बिश्नोई ने माना कि जेल में बैठकर गोल्डी बराड़ के साथ उसकी सिग्नल एप के जरिेए बात होती थी। वहीं, गोल्डी बराड़ के बहन के पति को भी होशियारपुर जेल से पूछताछ के लिए खरड़ लाया गया था।

 

  • Share