हरियाणा

चरखी दादरी: टैक्स और गेटपास को लेकर आढ़तियों ने सब्जी मंडी गेट पर जड़ा ताला, सरकार को दी चेतावनी

By Vinod Kumar -- June 05, 2022 4:01 pm -- Updated:June 05, 2022 4:01 pm

चरखी दादरी: सरकार की ओर से सब्जी मंडी में आढ़तियों पर दो प्रतिशत टैक्स हटाने की घोषणा के बाद भी टैक्स लगने व गेट पास कटने के विरोध में सब्जी मंडी के आढ़तियों ने मंडी गेट पर ताला जड़ते हुए सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया।

हरियाणा सब्जी मंडी आढ़ती एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष नितिन जांघू की अगुवाई में आढ़तियों ने काली पट्टी बांधकर गेट पर धरना दिया। इस दौरान सरकार पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए आढ़तियों ने प्रदेश स्तरीय मीटिंग बुलाकर आर-पार की लड़ाई लडऩे की बात कही।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि कोरोना काल के दौरान दो प्रतिशत टैक्स लगाया गया था। जिसे आढ़तियों की मांगों पर सरकार ने हटाने की घोषणा की थी। बावजूद इसके धरातल पर लागू नहीं हुआ है। नितिन जांघू व आढ़तियों ने कहा कि सब्जी मंडी के आढ़ती सरकार की मौजूदा प्रणाली के खिलाफ हैं।

आढ़तियों ने कहा कि सरकार द्वारा लाइसेंस देने के दौरान पूरे एक साल की टैक्स फीस लेने की बात कही गई थी, लेकिन अब आढ़तियों से बार-बार टैक्स व सब्जी मंडी में सब्जी लेकर आने पर गेट पास काटे जा रहे हैं, जिससे सभी आढती असहमत हैं। जो गेट पास काटे जा रहे है वो सब आढ़तियों की मर्जी के खिलाफ काटे जा रहे हैं। जिसके कारण सभी आढ़तियों ने सब्जी मंडी में एकत्रित होकर मंडी के गेट पर ताला लगाकर अपना विरोध प्रकट किया है।

चेतावनी देते हुए आढ़तियों ने कहा कि जब तक फीस माफ नहीं की जाएगी उनका विरोध जारी रहेगा। इस दौरान उन्होनें सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि उनकी मांगें पूरी नही हुई तो वो हरियाणा की सब्जी मंडियों की बैठक करके पूरे हरियाणा की सब्जी मंडियों को बंद करेंगे।

  • Share