किसानों ने बकाया पेमेंट की मांग को लेकर मिल्क प्लांट के समक्ष किया रोष प्रदर्शन

Farmers protest against milk plant | Demanded outstanding payment

सिरसा। (सुरेन सावंत) पिछले 3 महीने से बकाया भुगतान न होने के चलते किसानों ने वीटा मिल्क प्लांट के समक्ष रोषप्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। किसानों ने वीटा प्रबंधन पर सहकारी समितियों से दूध ना लेकर निजी संस्थानों से दूध लेने के आरोप भी लगाए। किसानों ने अपनी मांगों से संबंधित मांगपत्र वीटा मिल्क प्लांट के सीईओ को सौंपा। अधिकारियों द्वारा जल्द ही किसानों की समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। वहीं किसानो ने मांगे पूरी ना होने पर वीटा मिल्क प्लांट के घेराव की चेतावनी दी।

किसान विनोद और विकल पचार ने कहा कि पिछले तीन महीने से उनको भुगतान नहीं किया गया जबकि किसानों ने कोरोना काल में कभी भी दूध की कमी नहीं आने दी। भुगतान न होने के कारण किसानों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं उन्होंने वीटा मिल्क प्लांट पर आरोप लगाते हुए कहा कि वीटा वाले गांव में बनी सहकारी समितियों की बजाये निजी संस्थानों से या फिर राजस्थान से नकली दूध ले रहे हैं जिसके बुरे परिणाम आने वाले वक्त में देखने को मिलेंगे। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही उनकी मांगो को नहीं माना गया तो आने वाले सोमवार को गांव के लोग महिलाओं और बच्चों सहित महापड़ाव डालेंगे और वीटा मिल्क प्लांट का घेराव करेंगे।

Farmers protest against milk plant | Demanded outstanding payment

वहीं इस विषय में जब वीटा मिल्क प्लांट के सीईओ बिशम्भर से बात की तो उन्होंने बताया कि ये पेमेंट पहले की बकाया है। उन्होंने आते ही एक पेमेंट करवाई है और आगे भी जल्द ही पेमेंट करवाएंगे। वहीं सहकारी समितियों की बजाये निजी संस्थानों से दूध लेने के आरोपों पर उन्होंने कहा कि इस मामले में वो जांच करवाएंगे।

—PTC NEWS—