राजनीति

पंजाब पुलिस पर दिल्ली में FIR, भगवंत मान-केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकार की पिटाई का आरोप

By Vinod Kumar -- April 30, 2022 2:22 pm -- Updated:April 30, 2022 2:35 pm

दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस के कुछ पुलिस कर्मियों के खिलाफ दिल्ली में मुकदमा दर्ज किया है। इन पुलिस कर्मियों पर कथित तौर पर एक पत्रकार से मारपीट और बदसलूकी करने का आरोप है। यह मुकदमा कनॉट प्लेस थाने में दर्ज किया गया है।

26 अप्रैल को दिल्ली के इम्पिरियल होटल में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। आरोप है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पंजाब पुलिस ने एक पत्रकार के साथ बदसलूकी, धक्का-मुक्की और मारपीट की थी, जिसके बाद उस पत्रकार ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की थी।

शिकायत पत्र में सीनियर जर्नलिस्ट की ओर से कहा गया था कि वे इंपिरियल होटल में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस को कवर करने पहुंचे थे। वो 12 बजे के बाद होटल पहुंचे जहां प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी। इसी दौरान उनके साथ मारपीट की गई थी।

FIR against Punjab Police for 'harassing' journalist
पीड़ित पत्रकार ने कहा कि मैं पिछले 26 सालों से सक्रिय पत्रकारिता कर रहा हूं। भारत सरकार के सूचना विभाग से स्वतंत्र पत्रकारिता कर रहा हूं। मुझे मेरे संस्थान “हिन्दूस्थान पोस्ट” की संपादकीय मीटिंग में दिल्ली के इंपिरियल होटल में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेस कवरेज करने के लिए कहा गया था।

ठीक 12 बजकर 5 मिनट पर मैं होटल के प्रेस कॉन्फ्रेस स्थल पर पहुंचा। गेट पर मुझे सिक्योरिटी पर तैनात पुलिस वालों ने रोका और कहा कि आप अंदर नही जा सकते। मैंने उनको बताया कि मैं एक पत्रकार हूं और प्रेस कवरेज के लिए आया हूं। मुझे कहा गया कि आप इंतजार कीजिए, हम अंदर से पूछकर आते है। गेट पर तैनात पुलिस वाले एक अधिकारी को बुलाकर लाए उन्होंने मेरा परिचय पूछा कि आप कौन हैं। मैने उनको बताया कि मैं एक पत्रकार हूं और यहां रिपोर्टिग के लिए आया हूं। मैने उनको अपना पीआईबी का कार्ड दिखाया।

FIR against Punjab Police for 'harassing' journalist
पुलिस अधिकारी ने तपाक से कहा कि आप पत्रकार नही हैं। आप अंदर नहीं जा सकते मैंने इसका विरोध किया। पुलिस वालों को कहा कि इनको जेल में डाल दो, मैने फिर उनको कहा कि आप मुझे जेल में कैसे डाल सकते हैं। उसके बाद चार पुलिस वाले मुझे घसीट कर ले गये और लात घूसों से पिटाई भी की और चारों पुलिस वालों ने मेरी पिटाई की। ये सब होटल के सीसीटीवी कैमरे में कैद है। मुझे इससे मानसिक आघात पहुंचा है ।

 

पुलिस द्वारा मेरी पिटाई की जानकारी पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी हुई, लेकिन इन्होंने पुलिस कर्मियों को कोई नसीहत नही दी, जबकि पुलिस कर्मियों की इस करतूत के खिलाफ इन्हें बोलना चाहिए था। अप्रत्यक्ष तौर पर भगवंत सिंह मान और अरविंद केजरीवाल पुलिस कर्मियों का पक्ष लेते नज़र आ रहे हैं। इंपिरियल होटल के सीसीटीवी कैमरे को जब्त किया जाए। मेरी पिटाई करने वाले पुलिस कर्मियों का मौन समर्थन करने वाले भगवंत मान और अरविंद केजरीवाल को भी अभियुक्त बनाने बनाया जाए।

  • Share