adv-img
राजनीति

कोविड-19 की दूसरी लहर की गति धीमी, फिर भी अभी सतर्कता रखना बेहद आवश्यक: अनिल विज

By Arvind Kumar -- June 6th 2021 06:30 PM

चंडीगढ़। हरियाणा के गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर की गति धीमी अवश्य हुई है, लेकिन अभी सावधानी और सतर्कता रखना बेहद आवश्यक है । उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी सख्ती से पालन करना है ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को पूरी तरह से रोका जा सके, इसके लिए सभी को मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग तथा हाथों को नियमित रूप से साबुन पानी से धोना है या सैनिटाईजर का प्रयोग करना है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए प्रदेश सरकार द्वारा अस्पतालों में व्यापक प्रबन्ध किए गए हैं , जिससे प्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन, वैंटीलेटर और बैडों की भी कोई कमी नहीं है। लोगों को धैर्य रखते हुए कोविड-19 प्रोटोकोल नियमों की पालना करते हुए कोरोना संक्रमण की चैन को तोडऩे का काम करना है। ऐसे ही, अफवाहों से भी बचना है व स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करना है।

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि पिछले वर्ष भी सभी लोगों के सामूहिक प्रयासों से कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका गया था। लोगों ने अपनी शत-प्रतिशत सहभागिता से इस चैन को तोडऩे का काम किया था और परिणाम यह आ गये थे कि कोरोना के केसों में लगातार कमी आनी शुरू हो गई थी और जीवन रूपी पटड़ी भी दोबारा से चल पड़ी थी, लेकिन कोविड-19 की दूसरी लहर आने से दोबारा कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा था, लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा किए गए व्यापक प्रबन्धों तथा कोरोना योद्धाओं की मेहनत का ही यह परिणाम है कि कोरोना की दूसरी लहर अब धीमी पड़ चुकी है।

Anil VIj on Lockdown in Haryanaयह भी पढ़ें- पंजाब सरकार वैक्सीन पर कर रही मुनाफाखोरी: हरदीप सिंह पुरी

यह भी पढ़ें- हिमाचल प्रदेश में कोविड की दूसरी लहर अधिक घातक

अनिल विज ने प्रदेशवासियों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि हम सबके प्रयासों से कोरोना हारेगा और हम देश व प्रदेश से इस महामारी को जड़ से खत्म करने का काम करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है तथा लोग इस कार्य में अपनी पूर्ण सहभागिता सुनिश्चित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने यह वैक्सीन नहीं लगवाई है वे अपनी बारी आने पर वैक्सीन लगवाएं।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को हराकर ठीक हुए रोगियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सरकारी अस्पतालों में पोस्ट कोरोना केयर सैन्टर ‘उमंग’ खोले गए हैं। ‘उमंग’ केन्द्र में कोरोना से ठीक हुए रोगियों को बाद में होने वाली दिक्कत, परेशानियों का ईलाज किया जा रहा है। साथ ही ऐसे मरीजों को योग एवं प्राणायाम की शिक्षा भी दी जा रही है तथा शारीरिक फिटनेस के लिए फिजीयोथेरेपिस्ट और अन्य आवश्यक चिकित्सकों की सेवाएं भी ‘उमंग’ सैन्टर में ली जा रही हैं।

  • Share