हरियाणा पुलिस ने इस साल 6 माह में 117 आपराधिक गैंग किए बेनकाब

Haryana Police busts 117 criminal gangs during first half of 2020

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस द्वारा क्राईम की रफतार पर लगाम लगाने के लिए 2020 के प्रथम 6 माह में कुख्यात अपराधियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर राज्यव्यापी कार्रवाई की गई। इस दौरान पुलिस ने 117 आपराधिक गिरोह का पर्दाफाश़ किया जो राज्य में सक्रिय थे तथा जिन पर डकैती, लूटपाट, सेंधमारी व चोरी जैसी विभिन्न जघन्य वारदातों के लिए जिम्मेदार होने का संदेह था।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने आज यहां यह खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार, स्पेशल टास्क फोर्स सहित सभी फील्ड इकाइयों ने निरंतर कार्रवाई कर अपराध को कम करने के लिए आपराधिक गिरोहों के खिलाफ प्रयास तेज किए जिससे विभिन्न कुख्यात और खूंखार अपराधियों को सलाखों में भेजने के वांछित परिणाम हासिल हुए।

Haryana Police busts 117 criminal gangs during first half of 2020

हरियाणा की तरफ रुख करना अपराधियों को पड़ा मंहगा

एक व्यापक रणनीति के परिणामस्वरूप, पुलिस ने राज्य में डकैती में शामिल 3 गैंग, लूटपाट में 11, सेंधमारी में 23, चोरी में 43 और कई अन्य आपराधिक गतिविधियों में शामिल 37 गैंग सहित कुल 117 आपराधिक गिरोहों का पर्दाफाश किया। जनवरी से जून 2020 के बीच चली कार्रवाई के तहत इन आपराधिक गिरोह के 409 सदस्यों की गिरफ्तारी के साथ पूछताछ के आधार पर 633 आपराधिक मामलों को सफलतापूर्वक सुलझाया गया है। इसके अतिरिक्त, गिरफ्तार सदस्यों से 346 लाख 80 हजार रुपये की चोरी की संपत्ति भी बरामद की गई है।

अवैध हथियार किए जब्त

अवैध हथियारों की बरामदगी की बात करें तो इस दौरान कुल 625 पिस्तौल, 25 रिवाल्वर, 1296 कारतूस और 37 चाकू भी बरामद किए गए हैं।

Haryana Police busts 117 criminal gangs during first half of 2020

अतिरिक्त डीजीपी ने कहा कि राज्य पुलिस बल द्वारा गृह मंत्री अनिल विज के कुशल मार्गदर्शन तथा डीजीपी, हरियाणा मनोज यादव की देखरेख में निरंतर अपराध दर को कम करने के साथ-साथ कुख्यात और अन्य अपराधियों का पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार करने के सफल प्रयास किए जा रहें हैं। हमारी निरंतर कार्रवाई के परिणामस्वरूप, राज्य में ओवरऑल क्राईम ग्राफ में लगातार गिरावट देखी जा रही है। विर्क ने कहा कि खूंखार अपराधियों और अपराध सिंडिकेट के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई इसी प्रकार जारी रहेगी।

—PTC NEWS—