आज हरियाणा वीर एवं शहीदी दिवस, शहीदों को किया गया याद

By Arvind Kumar - September 23, 2020 9:09 am

चंडीगढ़। आज हरियाणा वीर एवं शहीदी दिवस मनाया जा रहा है। आज के दिन राव तुलाराम सहित सभी ज्ञात-अज्ञात शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों की याद में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं और उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। बता दें कि यह दिन 1857 में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महानायक अमर शहीद राव तुलाराम की शहादत पर मनाया जाता है।

राव तुलाराम का जन्म रेवाड़ी के रामपुरा में 9 दिसंबर 1825 को हुआ था। उस वक्त उनके पिता राव पूर्ण सिंह का रेवाड़ी (अहीरवाल) में राज था। राव तुला राम जब 14 साल के थे तब उनके पिता का देहांत हो गया था। उसके बाद 14 साल की उम्र में ही उन्होंने राज गद्दी संभाल ली। लेकिन पिता की मौत के बाद अंग्रेज़ों ने उनकी रियासत पर धीरे-धीरे कब्जा कर दिया।

Haryana Veer and Martyr Day हरियाणा वीर शहीदी दिवसयह भी पढ़ें: सपना चौधरी भी आई किसानों के समर्थन में, बोलीं- किसान की बेटी होने पर गर्व
educareइसके बाद राव तुलाराम ने अपनी सेना तैयार की। 1857 के विद्रोह की आग जब मेरठ तक पहुंची तो वो भी इस क्रांती में कूद पड़े। राव तुलाराम और उनके भाई के नेतृत्व में रेवाड़ी की सेना ने अंग्रेज़ी हुक़ूमत की नाक में दम कर दिया और रेवाड़ी व उसके आस-पास के कई इलाकों पर कब्ज़ा कर लिया। 23 सितंबर 1863 को उन्होंने काबुल में अंतिम सांस ली। राव तुला राम ने भारत को आज़ाद कराने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

Haryana Veer and Martyr Day हरियाणा वीर शहीदी दिवस

हरियाणा वीर एवं शहीदी दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल का कहना है कि मातृभूमि के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों की शहादत आने वाली पीढ़ियों के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत रहती है। उन्होंने कहा राज्य सरकार की सोच है कि महान शहीदों के सपनों को साकार करने के लिए हरियाणा एक-हरियाणवी एक की सोच के साथ आगे बढ़ा जाए।

यह भी पढ़ें: MSP में वृद्धि पर दुष्यंत ने जताया पीएम का आभार, कहा- विपक्ष के दावे की निकली हवा

Haryana Veer and Martyr Day हरियाणा वीर शहीदी दिवससीएम ने कहा आजादी की आवाज को बुलंद करने वाले इस महान योद्धा का अभूतपूर्व योगदान कभी भी नहीं भुलाया जा सकता। उन्होंने कहा शहीदों की गौरवगाथाएं हमें अपनी समृद्ध विरासत की सदैव याद दिलाएंगी। ऐसे वीरों को सम्मान देते हुए उनके दिखाए मार्ग पर चलकर देश को तरक्की के रास्ते पर ले जाने का संकल्प हम सभी को लेना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की आन-बान की रक्षा के लिए जब भी जरूरत पड़ी हरियाणा की माटी के रणबांकुरे देश के लिए शहीद हो गए। आज भी प्रदेश का युवा वर्ग देश सेवा में अवसर के लिए तत्पर ही नहीं रहता बल्कि देश सेवा का मौका मिलने पर स्वयं को गौरवांवित भी महसूस करता है।

---PTC NEWS---

adv-img
adv-img