Sun, Jan 29, 2023
Whatsapp

Lohri 2023: उत्तर भारत में आज मनाया जा रहा लोहड़ी का त्योहार, पूजन में इन बातों का रखें ध्यान

Lohri 2023: उत्तर भारत में आज लोहड़ी का त्योहार मनाया जा रहा है। शादी के बाद परिवार के नए सदस्य के आगमन पर भी यह पर्व बहुत खास हो जाता है। इसके अलावा बुजुर्ग भी इस पर्व को पूरे उत्साह के साथ मनाते हैं। लोहड़ी पर तरह तरह के पकवान भी बनाए जाते हैं। लोहड़ी पूजा पर कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, ताकि आप अपने साथ साथ दूसरों का भी ख्याल रख सकें।

Written by  Vinod Kumar -- January 13th 2023 11:51 AM
Lohri 2023: उत्तर भारत में आज मनाया जा रहा लोहड़ी का त्योहार, पूजन में इन बातों का रखें ध्यान

Lohri 2023: उत्तर भारत में आज मनाया जा रहा लोहड़ी का त्योहार, पूजन में इन बातों का रखें ध्यान

Lohri 2023: उत्तर भारत में आज लोहड़ी का त्योहार मनाया जा रहा है। लोहड़ी को देखते हुए गज्जक, मूंगफली, रेबड़ी से दुकानें सजी हुई हैं। लोहड़ी को देखते हुए लोग खरीददारी करने में जुटे हुए हैं। यह त्योहार विशेष रुप से पंजाब, हिमाचल, हरियाणा, जम्मू, दिल्ली में मनाया जाता है। 

लोग घरों में लकड़ियों का अलाव जलाकर मूंगफली, रेवड़ी, गजक से बने प्रसाद की आहुति इसमें डालते हैं। आहुति के साथ साथ लोग अग्नी की परिक्रमा करते हैं। लोहड़ी पर नए फसलों की भी पूजा की जाती है। प्रसाद की आहुति डालने के समय सुख-समृद्धि की कामना लोग करते हैं। आहुति डालते समय लोग नाचते गाते हुए लोहड़ी गीत गाते हैं, लेकिन लोहड़ी के त्योहार पर पूजा के समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।


1.आग जलाते समय कॉटन के कपड़े पहनें

कई बार आग के नजदीक दूसरे कपड़े जल्दी आग पकड़ सकते हैं, इसलिए आग से बचने के लिए कॉटन के कपड़ों का इस्तेमाल कर सकते हैं।


2.आग से दूरी बनाए रखें

कई बार खुशी के मौके पर लोग जोश में होश खो बैठते हैं। इस कारण कई दुर्घटनाएं सामने आती हैं। नाचते समय ये पूजा के समय किसी तरह की अनहोनी से बचने के लिए आग से दूरी बनाकर रखनी चाहिए।


3.अस्थमा के रोगी धुएं से बचें

अस्थमा और सांस की बीमारी से जूझ रहे लोगों को धुएं से परेशानी हो सकती है, इसलिए उन्हें आग से एक निश्चित दूरी बनाकर रखनी चाहिए।

4.आग के नजदीक जाने से बचें

बच्चों को आग के नजदीक जाने से रोकें। बच्चे अनजाने में खेलते समय आग के नजदीक जाकर कुछ शरारत कर सकते हैं। इससे वो खुद को और दूसरों को भी मुसीबत में डाल सकते हैं।

5.आंखों में जलन की समस्या

यदि आपकी आंखों में कोई समस्या है तो आपको आग के धुएं से निश्चित दूरी बनानी चाहिए या फिर आंखों को चश्में से ढक कर रखना चाहिए।

शादी के बाद परिवार के नए सदस्य के आगमन पर भी यह पर्व बहुत खास हो जाता है। इसके अलावा बुजुर्ग भी इस पर्व को पूरे उत्साह के साथ मनाते हैं। लोहड़ी पर तरह तरह के पकवान भी बनाए जाते हैं। तिल के लड्डू, मक्के की रोटी के साथ सरसों का साग भी लोग बनाते हैं। 

लोहड़ी का पर्व माता सती, भगवान श्रीकृष्ण व दुल्ला भट्टी से जुड़ा हुआ माना गया है। इस दिन दुल्ला भट्टी वाला गीत गाने की परंपरा है। लोहड़ी पर बच्चे घर घर जाकर लोहड़ी गीत गाकर लोहड़ी मांगते हैं। लोहड़ी से दिन लंबे और रातें छोटी होने लगती हैं। इस दिन से मौसम फसलों के अनुकूल होने लगता है।


- PTC NEWS

adv-img

Top News view more...

Latest News view more...