राजनीति

सपा नेताओं के ठिकानों पर की गई IT की रेड पूरी, 68 करोड़ रुपये की अघोषित आय खुलासा

By Vinod Kumar -- December 22, 2021 11:00 am

नेशनल डेस्क: यूपी में सपा नेताओं के ठिकानों पर 4 दिन से चल रही छापेमारी पूरी हो गई है। जांच में आयकर विभाग को 86 करोड़ रुपये की अघोषित आय का पता चला है। वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि लखनऊ, मैनपुर, कोलकाता, बेंगलुरु और एनसीआर के 30 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी, जिसमें कई अहम दस्तावेज और डिजिटल डेटा को भी बरामद किया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि कंस्ट्रक्शन के बिजनेस में शामिल कंपनियों में करोड़ों रुपयों के कई फर्जी खर्च की जानकारी मिली है। इनके पास से खाली बिल बुक, स्टांप, साइन किए चेक समेत कई दस्तावेज मिले हैं, जिन्हें जब्त कर लिया है।
बता दें कि आयकर विभाग ने 18 दिसंबर को उत्तर प्रदेश और कर्नाटक के कई ठिकानों पर छापेमारी शुरू की थी। आयकर विभाग ने मऊ में राजीव राय (Rajeev Rai), मैनपुर में मनोज यादव (Manoj Yadav) और लखनऊ में जैनेंद्र यादव (Jainendra Yadav) के घर पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया था। इसके अलावा कोलकाता के एक एंट्री ऑपरेटर के घर पर भी छापा मारा गया था।

income tax  Raid  SP Leaders rajeev rai monoj yadav jainendra, Samajawadi Party Leaders, आयकर विभाग, समाजवादी पार्टी, राजीव राय, मनोज यादव, जैनेंद्र, समाजवादी पार्टी राजीव राय

बयान के मुताबिक, कंस्ट्रक्शन कंपनी के डायरेक्टर्स के पास 86 करोड़ रुपये की अघोषित आय की जानकारी मिली है, जिसमें से 68 करोड़ रुपये की बात मालिक ने मानी भी है और इस पर उसने टैक्स देने की बात कही है। कुछ ही सालों में इस कंपनी का टर्नओवर 150 करोड़ रुपये हो गया, लेकिन ये कैसे हुआ, इस बारे में मालिक की ओर से कोई भी सबूत पेश नहीं किए जा सके।

आयकर विभाग को सर्च ऑपरेशन के दौरान शेल कंपनियों के जरिए 12 करोड़ रुपये के अघोषित निवेश की जानकारी मिली है। इसके अलावा दूसरे मामले में भी 11 करोड़ रुपये के निवेश का पता चला है और बेनामी संपत्ति में 3।5 करोड़ रुपये के निवेश के दस्तावेज भी बरामद हुए हैं।

income tax  Raid  SP Leaders rajeev rai monoj yadav jainendra, Samajawadi Party Leaders, आयकर विभाग, समाजवादी पार्टी, राजीव राय, मनोज यादव, जैनेंद्र, समाजवादी पार्टी अखिलेश यादव के साथ जैनेंद्र (फाइल फोटो)

वहीं कोलकाता में एक एंट्री ऑपरेटर के यहां की गई छापेमारी में पता चला है कि उसने इन लोगों की मदद के लिए कई शेल कंपनियां बना रखी थीं। अधिकारियों के मुताबिक, इन कंपनियों 408 करोड़ रुपये के फर्जी शेयर की एंट्री थी और इन कंपनियों के जरिए 154 करोड़ रुपये का फर्जी लोन भी दिया गया था। एंट्री ऑपरेटर ने इस पूरे खेल में शामिल होने की बात मानी है, साथ ही उसने कमीशन से 5 करोड़ रुपये की कमाई होने की बात भी कबूल की है।

income tax  Raid  SP Leaders rajeev rai monoj yadav jainendra, Samajawadi Party Leaders, आयकर विभाग, समाजवादी पार्टी, राजीव राय, मनोज यादव, जैनेंद्र, समाजवादी पार्टी आईटी रेड के दौरान सपा नेताओं के घर के बाहर जुटे समर्थक

सपा के राष्ट्रीय सचिव और प्रवक्ता राजीव राय का बेंगलुरु में मेडिकल कॉलेज है। यहां भी आयकर विभाग ने छापा मारा था। उनके मऊ स्थित घर पर भी विभाग ने तलाशी ली थी। उन्होंने इस छापेमारी को राजनीति से प्रेरित बताया था। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। वहीं, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने इन आरोपों पर 'चोर की दाढ़ी में तिनका' बताया था

  • Share