कोरोना की वैक्सीन बनाने में भारतीय साइंटिस्ट को मिली सफलता, ट्रायल शुरू

Kolkata origin professor Sumi Biswas developed Corona Vaccine

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी ने लगभग पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लिया हुआ है। दुनियाभर के साइंटिस्ट इस वायरस की वैक्सीन पर काम कर रहे हैं। इस बीच भारतीय प्रोफेसर को कोरोना वैक्सीन बनाने में सफलता हाथ लगी है। ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में भारतीय प्रोफेसर सुमी विश्वास ने कोरोना वायरस की एक नई वैक्सीन तैयार की है।

 सुमी विश्वास की कंपनी स्पाईबायोटेक ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ साझेदारी के तहत इस वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल ऑस्ट्रेलिया में शुरू किया है। सीरम इंस्टीट्यूट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने कहा, ” हम कोविड -19 वैक्सीन पर काम करने के लिए स्पाईबायोटेक के साथ सहयोग को लेकर बहुत उत्साहित हैं। इस नई तकनीक में महामारी से निपटने के लिए एक शक्तिशाली नया दृष्टिकोण होने की क्षमता है।”

Kolkata origin professor Sumi Biswas developed Corona Vaccine

सुमी विश्वास कोलकाता की रहने वाली हैं। उन्होंने बैंगलोर विश्वविद्यालय में माइक्रोबायोलॉजी में पढ़ाई की है। वह ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कंपनी SpyBiotech के सह-संस्थापक और सीईओ हैं। सुमी ने 2017 में स्पाईबायोटेक (SpyBiotech) कंपनी बनाई थी। स्पाईबायोटेक कंपनी ने ही कोरोना की नई वैक्सीन तैयार की है।

SpyBiotech संक्रामक रोगों, कैंसर और पुरानी बीमारियों को लक्षित करने वाली यूके-आधारित कंपनी है। SpyBiotech को वैक्सीन विकास में SpyTag / SpyCatcher तकनीक को लागू करने, व्यवसायीकरण और उप-लाइसेंस देने के लिए ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से विशेष अधिकार प्राप्त हैं।

—PTC NEWS—