हरियाणा

जिन डॉक्टरों की सुरक्षा में दिनरात तैनात था गार्ड, दर्द उठने पर उन्होंने ही नहीं किया इलाज...मौत

By Vinod Kumar -- January 03, 2022 4:57 pm -- Updated:January 03, 2022 4:59 pm

नेशनल डेस्क: लखनऊ (Lucknow) के पीजीआई (PGI) अस्पताल में सिक्योरिटी गार्ड को इमरजेंसी में इलाज नहीं मिला। स्थिति गंभीर होने के बाद भी डॉक्टरों ने उसे 15 किलोमीटर दूर अस्पताल में रेफर कर दिया। समय पर ना इलाज ना मिलने के कारण गार्ड की मौत हो गई।

Lucknow PGI doctors security guard corona report RTPCR, लखनऊ पीजीआई, सिक्योरिटी गार्ड, कोरोना रिपोर्ट

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मिथिलेश कुमार पीजीआई में गार्ड के पद पर तैनात था। उनकी ड्यूटी पीजीआई के डायरेक्टर सहित अन्य डॉक्टरों के आवास पर लगती थी। मिथिलेश की ड्यूटी रात 11 से सुबह 7 बजे तक के होती थी। 2 जनवरी को सुबह मिथिलेश के सीने में अचानक तेज दर्द उठा। दूसरे गार्ड उसे लखनऊ पीजीआई के इमरजेंसी वार्ड में लेकर चले गए, लेकिन आरटीपीसीआर रिपोर्ट ना होने के कारण डॉक्टरों ने उसे 15 किलोमीटर दूर लोकबंधु अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

Lucknow PGI doctors security guard corona report RTPCR, लखनऊ पीजीआई, सिक्योरिटी गार्ड, कोरोना रिपोर्ट

इसके बाद मिथिलेश को लोकबंधु ले जाया गया, लेकिन लोकबंधु अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। खबरों के मुताबिक, पोस्टमार्टम में मौत की वजह ठंड लगना बताई गई है। जब अस्पताल प्रशासन की लापरवाही का ये मामला सामने आया तब पीजीआई के डायरेक्टर ने पूरे मामले पर जांच के आदेश दिए हैं। मिथिलेश की मौत पर होमगार्ड के जिला कमांडेंट कपिल कुमार ने दुख जताया। साथ ही मृतक के बेटे को नौकरी दिए जाने की बात भी कही।

Lucknow PGI doctors security guard corona report RTPCR, लखनऊ पीजीआई, सिक्योरिटी गार्ड, कोरोना रिपोर्ट

  • Share