पुलवामा में सैनिकों पर हुए कायराना हमले के बाद आक्रोश में देश के लोग, बदले की मांग

Protest
पुलवामा में सैनिकों पर हुए कायराना हमले के बाद आक्रोश में देश के लोग, बदले की मांग

चंडीगढ़। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर हुए कायराना हमले के बाद पूरे देश के लोग गुस्से में है। इस घटना में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं। जिनके पार्थिक शरीर को उनके पैतृक गांव पहुंचाया जा रहा है। शुक्रवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने खुद जम्मू कश्मीर पहुंचकर सैनिकों के पार्थिक शरीर को कंधा दिया। वहीं शुक्रवार शाम प्रधानमंत्री ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।

Attack On CRPF Convoy
घटनास्थल का दृश्य, जहां बस पर आतंकी हमला हुआ

पुलवामा में सैनिकों के ऊपर हुए कायराना आतंकी हमले के बाद देश के लोगों में आक्रोश है। देशभर में इस घटना को लेकर प्रदर्शन किया गया। कहीं कैंडल मार्च निकाला गया तो कई जगहों पर पाकिस्तान के पुतले फूंके गए।

Candle March
पुलवामा आतंकी घटना के विरोध में कैंडल मार्च निकालते लोग

लोगों का कहना है कि जब तक भारत सरकार आतंकवाद को मुंह तोड़ जवाब नहीं दे देती तब तक उन्हें चैन की नींद नहीं आएगी। लोगों ने उम्मीद जताई कि जल्दी भारत सरकार एक बार फिर सर्जिकल स्ट्राइक 2 करके आतंकवाद का खात्मा करेगी।

Student Protest
पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन करतीं स्कूली छात्राएं

इस हमले की कड़ी आलोचना करते हुए विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने बताया कि वे इस दुख की घड़ी में शहीद सैनिकों, उनके परिवारों व भारतीय सेना के साथ खड़े हैं।

Pulwama Attack
पुलवामा अटैक के विरोध में पाकिस्तान का पुतला जलाते लोग

आतंकवाद मानवता के लिए एक चुनौती है। इस चुनौती से पार पाने के लिए भारत सरकार अपनी खूफिया जानकारी को और पुख्ता करे तथा आतंकवाद के प्रशिक्षण स्थलों को बंद करवाने में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग लें।

यह भी पढ़ें : हरियाणा का जवान आतंकियों से लोहा लेते शहीद, शहादत से पहले एक आतंकी को मार गिराया