पंजाब का बड़ा नशा तस्कर और उसका भाई काबू, टेरर फंडिंग में हाथ होने की आशंका

By Arvind Kumar - May 09, 2020 10:05 am

सिरसा। पंजाब की अमृतसर पुलिस व एनआईए टीम तथा सदर थाना पुलिस की संयुक्त टीम ने आज तड़के बेगू रोड पर छापेमारी कर 532 किलोग्राम हेरोइन तस्करी मामले में मोस्ट वांटेड तस्कर रंजीत सिंह उर्फ चीता व उसके भाई गगन को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि मोस्ट वांटेड रंजीत उर्फ चीता हिजबुल मुजाहिदिन के संपर्क में है और टेरर फंडिग में भी उसका हाथ है। इन तस्करों को सिरसा में शरण देने वाले गुरमीत सिंह को भी पुलिस ने काबू किया है। पंजाब का मोस्ट वांटेड तस्कर रंजीत सिंह पिछले 8 महीने से भाई, पिता व परिवार सहित सिरसा में किराए का कमरा लेकर शरण लिए हुए था।

गुरमीत सिंह की आईडी पर कमरा किराए पर लिया गया था। फिलहाल पुलिस ने तस्कर रंजीत के परिवार को भी हिरासत में लिया है, उनसे पूछताछ जारी है। गौरतलब है कि अमृतसर पुलिस ने 532 किलोग्राम हेरोइन तस्करी मामले में श्रीनगर रूपये भेजने वाले दो भाइयों मनिंदर और विक्रम को गिरफ्तार किया था। दोनों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि इस मामले में मोस्ट वांटेड रंजीत से उनका कनेक्शन है। इसी आधार पर पंजाब पुलिस की टीम व एनआईए की टीम सिरसा पहुंची और सदर थाना पुलिस को साथ लेकर सुबह-सवेरे बेगू रोड पर रेड की। पुलिस को मोस्ट वांटेड तस्करी रंजीत व उसके भाई गगन को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली।

Punjab's big drug smuggler and his brother arrestedसिरसा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरूण नेहरा ने कहा कि एनआईए टीम को सूचना मिली थी। इसी आधार पर अमृतसर पुलिस, एनआईए टीम व सिरसा पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मोस्ट वांटेड तस्करों को गिरफ्तार किया है। दोनों तस्कर भाइयों को पंजाब पुलिस के हवाले कर दिया गया है। इन्हें शरण देने वाले गुरमीत को भी काबू किया गया है। तस्करों के पारिवारिक सदस्यों को भी हिरासत में लिया गया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने कहा कि 532 किलोग्राम तस्करी का यह मामला संभवत: देश का पहला मामला है जिसमें इतनी अधिक मात्रा में बरामदगी हुई है। इस मामले में आठ-दस अन्य मामलों में मोस्ट वांटेड रंजीत उर्फ चीता की पुलिस को तलाश थी। आज इसे काबू किया
गया है।

---PTC NEWS---

adv-img
adv-img