कानून व्यवस्था

मोहाली ब्लास्ट: कार में सवार होकर आए थे हमलावर, अंबाला से एक गिरफ्तार

By Vinod Kumar -- May 10, 2022 3:35 pm -- Updated:May 10, 2022 3:51 pm

मोहाली में पंजाब के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर में बम धमाके में एक बड़ा खुलासा हुआ है। सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जांच में पुलिस को कई बड़े सुराग हाथ लगे हैं। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार ब्लास्ट को अंजाम देने के लिए आरोपी स्विफ्ट कार में सवार होकर आए थे।

आरपीजी से फायर करने के बाद कार मोहाली से डेराबस्सी गई और वहां से दप्पर टोल प्लाजा से होते हुए हरियाणा के अंबाला जिले में प्रवेश कर गई। हरियाणा में रेड कर रही टीमों ने अंबाला से ही एक संदिग्ध को पकड़ा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, शुरुआती पूछताछ में उससे कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां मिली हैं, जिसके आधार पर चंडीगढ़-नई दिल्ली नेशनल हाईवे से लगते इलाकों में सर्च की जा रही है। इस बीच अंबाला से जिस संदिग्ध को पकड़ा गया है, उसे मोहाली लाया जा रहा है।

Explosive-used-was-trinitrotoluene--Punjab-DGP-5

पंजाब पुलिस के मोहाली स्थित इंटेलिजेंस विंग के हेडक्वार्टर पर हमले के बारे में जानकारी देते हुए पंजाब के डीजीपी वीके भावरा ने कहा कि इसकी संभावना है कि विस्फोटक के तौर पर ट्राइ नाइट्रो टाल्यून (TNT) का इस्तेमाल किया गया है। DGP ने कहा कि हेडक्वार्टर पर प्रोजेक्टाइल से हमला किया गया है।

बता दें कि बीती 5 मई को ही हरियाणा में करनाल जिले के बसताड़ा टोल प्लाजा से आईबी ने सूचना के आधार पर पंजाब से संबंध रखने वाले 4 आतंकियों को गिरफ्तार किया था।ये आतंकी टोल चंडीगढ़-नई दिल्ली नेशनल हाईवे से ही पकड़े गए थे। वहीं एनआईए ने भी पंजाब पुलिस से संपर्क किया है, कहा जा रहा है कि घटना की जांच एनआईए अपने हाथ में ले सकती है।

बता दें कि कल शाम मोहाली स्थित पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस विंग के हेडक्वार्टर पर RPG से हमला किया गया था। आरपीजी की रेंज 700 मीटर तक होती है, लेकिन आरपीजी की जांच के बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि ये हमला करीब 80 मीटर दूर से किया गया है। बताया जा रहा है कि बिल्डिंग को उड़ाने के लिए ही आरपीजी से हमला किया गया था, लेकिन गनीमत रही कि ये पूरी तरह से ब्लास्ट नहीं हुआ और बड़ा नुकसान होने से बच गया।

  • Share