हरियाणा

संयुक्त किसान मोर्चा की आगामी रणनीति, चुनावी राज्यों में बीजेपी के विरोध में करेंगे वोट की अपील

By Arvind Kumar -- March 03, 2021 10:28 am -- Updated:March 03, 2021 10:40 am

सोनीपत। (जयदीप राठी) 6 मार्च को किसान आंदोलन को 100 दिन पूरे हो जाएंगे। ऐसे में किसानों ने आंदोलन की आगामी रणनीति तैयार की है। सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की आम बैठक में फैसला लिया गया है कि 6 मार्च 2021 को, दिल्ली व दिल्ली बोर्डर्स के विभिन्न विरोध स्थलों को जोड़ने वाले केएमपी एक्सप्रेसवे पर 5 घंटे की नाकाबंदी होगी। यह सुबह 11 से शाम 4 बजे के बीच जाम किया जाएगा। यहां टोल प्लाजा को टोल फीस जमा करने से भी मुक्त किया जाएगा।

100 Days of Farmers Protest संयुक्त किसान मोर्चा की आगामी रणनीति, चुनावी राज्यों में बीजेपी के विरोध में करेंगे वोट की अपील

वहीं देशभर में, आंदोलन को समर्थन के लिए और सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए, घरों और कार्यालयों पर काले झंडे लहराए जाएंगे। संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रदर्शनकारियों को उस दिन काली पट्टी बांधने के लिए भी आह्वान किया है।
8 मार्च को संयुक्त किसान मोर्चा महिला किसान दिवस के रूप में मनाएगा। देश भर के सभी सयुंक्त किसान मोर्चे के धरना स्थल पर 8 मार्च को महिलाओं द्वारा संचालित होंगे। इस दिन महिलाएं ही मंच प्रबंधन करेंगी और वक्ता होंगी। एसकेएम ने उस दिन महिला संगठनों और अन्य लोगों को आमंत्रित किया कि वे किसान आंदोलन के समर्थन में इस तरह के कार्यक्रम करें और देश में महिला किसानों के योगदान को उजागर करें।
 वहीं केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर 15 मार्च 2021 को 'निजीकरण विरोधी दिवस' का समर्थन करते हुए सयुंक्त किसान मोर्चा द्वारा विरोध प्रदर्शन किए जाएंगे। एसकेएम इस दिन को 'कॉरपोरेट विरोधी' दिवस के रूप में देखते हुए ट्रेड यूनियनों के इस आह्वान का समर्थन करेगा और एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

100 Days of Farmers Protest संयुक्त किसान मोर्चा की आगामी रणनीति, चुनावी राज्यों में बीजेपी के विरोध में करेंगे वोट की अपील

यह भी पढ़ें:- राकेश टिकैत बोले- साल के आखिर तक चलेगा किसान आंदोलन

यह भी पढ़ेंः- मास्क ना पहनने वालों के फिर से होंगे चालान, सीएम खट्टर ने दिए जुर्माना वसूलने के निर्देश

100 Days of Farmers Protest संयुक्त किसान मोर्चा की आगामी रणनीति, चुनावी राज्यों में बीजेपी के विरोध में करेंगे वोट की अपील

इसके अलावा जिन राज्यों में अभी चुनाव होने वाले हैं, उन राज्यों में SKM भारतीय जनता पार्टी (BJP) की किसान-विरोधी, गरीब-विरोधी नीतियों को दंडित करने के लिए जनता को एक अपील करेगा। एसकेएम के प्रतिनिधि भी इस उद्देश्य के लिए इन राज्यों का दौरा करेंगे और विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

साथ ही SKM पूरे भारत में एक "MSP दिलाओ अभियान" शुरू करेगा। अभियान के तहत, विभिन्न बाजारों में किसानों की फसलों की कीमत की वास्तविकता को दिखाया जाएगा, जो मोदी सरकार व एमएसपी के झूठे दावों और वादों को उजागर करेगा। यह अभियान दक्षिण भारतीय राज्यों कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में शुरू किया जाएगा। पूरे देश में किसानों भी इस अभियान में शामिल किए जाएंगे।

  • Share