हिमाचल

लाहौल घाटी में मई के महीने में बर्फबारी, बारिश से घरों को पहुंचा नुकसान...कई पंचायतों में छाया रहा अंधेरा

By Vinod Kumar -- May 24, 2022 12:53 pm -- Updated:May 24, 2022 12:56 pm

हिमाचल प्रदेश की लाहौल घाटी में मई के महीने में ताजा बर्फबारी हुई है। लाहौल घाटी के अलावा दर्रा, बारालाचा, कुंजुम दर्रा, घेपन पीक, लेडी ऑफ केलांग, मुलकिला, नीलकंठ, मकवरे, शिकवरे में भी बर्फबारी हुई है।

लाहौल-स्पीति में बर्फबारी होने से मनाली-लेह राजमार्ग पर बारालाचा दर्रे और उसके आसपास ताजा हिमपात के बाद मंगलवार सुबह यातायात की आवाजाही रोक दी गई। जिले में सोमवार को ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बारिश और ताजा हिमपात होने के कारण प्रशासन को ऊंचे पहाड़ी दर्रों से गुजरने वाले कुछ मार्गों पर यातायात को रोकना पड़ा।

snowfall, himachal, rain, weather, lahaul

पुलिस के अनुसार मनाली से दारचा के लिए यातायात बहाल कर दिया गया, लेकिन दारचा से आगे लेह मार्ग पर यातायात बाधित है। दारचा-ज़ांस्कर मार्ग पर भी यातायात रोक दिया गया, जो शिंकूला से होकर गुजरता है। कुंजुम दर्रे से होकर गुजरने वाले कोकसर-लोसार-काजा मार्ग पर यातायात बाधित है।

snowfall, himachal, rain, weather, lahaul

इसके अलावा चंबा जिले के पांगी जाने वाली तंडी-उदयपुर-किलाड़ सड़क सोमवार से भूस्खलन और कुरचेहाद के पास एक पुल के क्षतिग्रस्त होने के कारण बंद हो गई है। वहीं, हिमाचल प्रदेश में ऑरेंज अलर्ट के बीच रविवार देर रात को अंधड़ ने छह जिलों में भारी तबाही मचाई। सिरमौर जिले की 90 पंचायतों में अंधेरा छाया रहा। सोमवार शाम तक कुछ पंचायतों में बिजली सेवा बहाल हो पाई थी। कई स्थानों पर बिजली के खंभे टूटने से बिजली बोर्ड को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है।

snowfall, himachal, rain, weather, lahaul

बारिश के बीच हिमाचल में नौ कच्चे मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने मंगलवार को भी कई जिलों में बारिश, ओलावृष्टि और अंधड़ की चेतावनी जारी की है। 27 मई तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है।

  • Share