हरियाणा

हरियाणा के करनाल की बेटी ने छू लिया था आसमान, आज ही 19 साल पहले स्पेस शटल दुर्घटना में कहा था दुनिया को अलविदा

By Vinod Kumar -- February 01, 2022 4:26 pm -- Updated:February 01, 2022 5:21 pm

kalpana chawla death anniversary: अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय मूल की महिला कल्पना चावला की आज पुण्यतिथि है। शक्ति और दृढ़ संकल्प का प्रतीक बन चुकीं कल्पना चावला पूरी दुनिया में महिलाओं को प्रेरित करती रही हैं और करती रहेंगी।

आज भारत की बेटियां हर क्षेत्र में अपना मुकाम बना रही हैं। वह घर चलाने से लेकर देश चलाने तक, पहाड़ों पर चढ़ने से लेकर हवा में फाइटर प्लेन उड़ाने तक, अपनी भागीदारी बखूबी निभा रही हैं। आज की महिलाओं को आगे बढ़ने, देश और समाज के लिए कुछ करने की प्रेरणा देने में इतिहास की कुछ महिलाओं का अहम रोल रहा है।

आज बच्चा-बच्चा कल्पना चावला का नाम जानता है। वह अंतरिक्ष पर उड़ान भरने वाली पहली भारतीय मूल की महिला थीं। उनकी यह उपलब्धि केवल महिलाओं के लिए प्रेरणा नहीं, बल्कि पूरे भारत के लिए गर्व की बात है।

Galactic Space Mission: After Kalpana Chawla, Indian-origin Sirisha Bandla to fly into space

आज कल्पना चावला की पुण्यतिथि है। 1 फरवरी 2003 को कोलंबिया स्पेस शटल के दुर्घटनाग्रस्त होने के साथ ही यान में सवार सभी अंतरिक्ष यात्रियों की मौत हो गई थी। इनमें से एक कल्पना चावला भी थीं। बेशक आज ही के दिन कल्पना की उड़ान रुक गई हो लेकिन वह दुनिया के लिए एक मिसाल बन गईं।

हरियाणा के करनाल की रहने वाली कल्पना चावला को याद करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सोशल मीडिया मंच कू ऐप पर लिखा कि महिला शक्ति की प्रतिमूर्ति, हरियाणा के करनाल की बेटी एवं भारतीय मूल की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला जी की पुण्यतिथि पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि। विश्व पटल पर भारत का नाम रोशन करने वाली कल्पना चावला जी महिलाओं एवं युवाओं के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत रहेंगी।

 

 

  • Share