हरियाणा

किसानों के लिए खुशखबरी, केंद्र सरकार ने 31 मई तक बढ़ाई गेहूं खरीद की सीमा

By Vinod Kumar -- May 16, 2022 3:01 pm -- Updated:May 16, 2022 3:03 pm

सिरसा/सुरेन सावंत: केंद्र सरकार ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए गेहूं खरीद की समय सीमा बढ़ाकर 31 मई कर दी है हालांकि हरियाणा सरकार ने पिछले दिनों ही गेहूं की सरकार खरीद बंद कर दी थी, लेकिन आज 16 मई को सिरसा की अनाज मंडी में काफी संख्या में किसान गेहूं लेकर पहुंचे है।

केंद्र सरकार ने किसानों को गेहूं बेचने के लिए 15 दिनों का समय दिया है, लेकिन हरियाणा सरकार ने 25 मई तक ही गेहूं की सरकारी खरीद करने का ऐलान किया है। यानि सिरसा की अनाज मंडी में अगले 10 दिनों तक गेहूं की आवक दोबारा से शुरू हो जाएगी। आपको बता दें कि इस बार गेहूं का उत्पादन कम हुआ है। गेहूं का संकट देश में न हो जाए इसलिए पीएम नरेंद्र मोदी ने गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दी है।

wheat procurement, sirsa mandi, sirsa, haryana, Center govt.

किसानों ने बताया कि सिरसा जिला के काफी किसानों ने मंडी में गेहूं बेचने के बजाए अपने घरों में ही गेहूं का स्टॉक कर लिया था। कहीं न कहीं किसानों को उम्मीद थी कि 16 मई के आस पास हरियाणा सरकार गेहूं की दोबारा से सरकारी खरीद शुरू करेगी। हरियाणा सरकार ने कल ही हरियाणा के किसानों को जल्द से जल्द गेहूं बेचने के निर्देश दिए थे जिसके बाद आज सिरसा की अनाज मंडी में काफी संख्या में किसान अपने खेतों का सोना लेकर मंडी में पहुंचे है।

wheat procurement, sirsa mandi, sirsa, haryana, Center govt.

किसानों को उम्मीद है कि अब हरियाणा सरकार गेहूं के सरकारी रेट में इजाफा करके ही गेहूं की सरकारी खरीद शुरू करेगी। इसके अलावा किसानों को उम्मीद है कि सरकार जल्द से जल्द 500 रुपए प्रति क्विंटल गेहूं का बोनस किसानों को जरूर देगी।

wheat procurement, sirsa mandi, sirsa, haryana, Center govt.

फ़िलहाल इस समय गेहूं का सरकारी भाव 2015 प्रति क्विंटल तय किया गया है जबकि प्राइवेट फर्मे 2100 से ज्यादा भाव दे रही हैं। ज्यादातर किसान सरकार को बेचने की बजाए प्राइवेट फर्मो को ही गेहूं बेचने में रूचि दिखा रहे है, लेकिन अभी भी कुछ किसान सरकार को ही गेहूं बेचने का मूड़ बना चुके हैं।

  • Share