6 मिनट के वॉक टेस्ट से लग जाएगा आपके स्वास्थ्य का पता, जानें कैसे घर पर करे स्वास्थ्य की जांच

नई दिल्ली। कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के चलते महाराष्ट्र में कई स्थानों पर ऑक्सीजन की कमी है। इसलिए राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने नागरिकों को छह मिनट की वॉक टेस्ट देकर फेफड़ों की कार्यप्रणाली की जांच करने की सलाह दी है।

निर्देशों के अनुसार, कोरोनोवायरस लक्षणों वाले एक व्यक्ति को परीक्षण लेने से पहले एक ऑक्सीमीटर का उपयोग करके अपने ऑक्सीजन स्तर की जांच करनी होगी। फिर व्यक्ति को बिना रुके उंगली पर ऑक्सीमीटर के साथ छह मिनट के लिए चलना होगा। 6 मिनट के बाद अगर ऑक्सीजन का स्तर नीचे नहीं जाता है, तो व्यक्ति को स्वस्थ माना जाएगा।
ऑक्सीजन का स्तर 1% या 2% कम होने पर भी चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है। इस अभ्यास को दिन में दो बार किया जाना चाहिए। एक अधिकारी ने कहा कि अगर ऑक्सीजन का स्तर 93% या 3% से नीचे चला जाता है या व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ होती है तो व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी जाती है।

यह भी पढ़ें- ऑक्सीजन के नाम पर साइबर ठग हुए सक्रिय, हरियाणा पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

यह भी पढ़ें- शूटर दादी चंद्रो तोमर का कोरोना से निधन, मेरठ के आनंद अस्पताल में ली आखिरी सांस


बता दें कि यह टेस्ट अस्थमा से पीड़ित लोगों के लिए नहीं है। साथ ही, 60 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिक छह के बजाय तीन मिनट तक पैदल चलकर इस परीक्षण को कर सकते हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि यह व्यक्तियों में ऑक्सीजन की कमी का पता लगाने में मदद करेगा और उन्हें सही समय पर अस्पतालों में भर्ती करने में मदद कर सकता है।