हरियाणा

चंडीगढ़ की कॉलोनी नंबर 4 पर चला बुल्डोजर, रोते बिलखते नजर आए लोग

By Vinod Kumar -- May 01, 2022 4:19 pm

चंडीगढ़ की कॉलोनी नंबर 4 में आज प्रशासन ने बुलडोज़र्स की मदद से गिरा दिया। कॉलोनी पर बुल्डोजर चलने से सैकड़ों परिवार बेघर हो गए। कार्रवाई के दौरान भारी पुलिस बल और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवानों के आगे कॉलोनीवासी बेबस नजर आए। यह कोई विरोध भी दर्ज नहीं करवा पाए और उनकी आंखों के सामने उनके घरों को ढहा दिया गया।

मकान टूटने के बाद कुछ लोग आसपास की कॉलोनियों में किराए पर रहने के लिए जा रहे थे। वहीं कुछ के पास किराए के पैसे नहीं थे और वह दुखी होकर रोते-बिलखते नजर आए। कुछ कॉलोनी वासियों ने बताया कि वह अपना सामान बांध कर गांव जा रहे हैं। यह कॉलोनी करीब 80 एकड़ में फैली हुई थी। करीब 40 वर्ष पहले यह कॉलोनी बसाई गई थी। कॉलोनी में करीब 2 हजार परिवारों में से सिर्फ 290 को चंडीगढ़ एस्टेट ऑफिस ने बॉयोमैट्रिक सर्वे के आधार पर मलोया में मकान की पेशकश की है। कुछ कॉलोनी वासियों ने दावा किया कि उनका बॉयोमैट्रिक सर्वे हो रखा था। इसके बावजूद उन्हें मकान नहीं मिला।

अधिकारियों का कहना है कि जिन लोगों के पास बायोमेट्रिक सर्वे व अंगूठे के निशान की कॉपी मौजूद है, लेकिन किन्हीं कारणों से उन्हें पुनर्वास योजना के तहत मलोया में मकान नहीं मिला है, उन्हें किफायती किराया आवासीय योजना के तहत 3 हजार रुपये प्रति महीने किराये पर मलोया में मकान दे दिया गया है। यही कारण है कि अब कालोनी को खाली कराने का फैसला लिया गया है।

बता दें कि चंडीगढ़ यूटी प्रशासन ने रविवार को लगभग 40 साल पुरानी कालोनी नंबर-4 को खाली कराने के लिए सुबह 5 बजे से ही अभियान शुरू कर दिया था। शनिवार को प्रशासन ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए थे। अभियान के लिए प्रशासन ने दो हजार पुलिसकर्मी व 10 एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी थी।

शनिवार को नगर निगम की गाड़ियां लगाकर प्रशासन ने लोगों का सामान उन्हें आवंटित घरों में ले जाने के लिए लगा दीं थी। कुछ लोग निजी वाहनों से भी अपना सामान ले गए। कुछ लोगों ने बताया कि परिवार के सदस्य बाहर गए हैं। उनके आते ही रविवार सुबह उन लोगों ने भी घर खाली कर दिया।

  • Share