बिंदल का नहीं बल्कि स्वास्थ्य मंत्री के नाते मुख्यमंत्री का बनता है इस्तीफा: विक्रमादित्य सिंह

Congress MLA Vikramaditya Singh Press Conference

शिमला। स्वास्थ्य विभाग में हुए घोटाले में हिमाचल भाजपा अध्यक्ष ने नैतिकता के आधार पर इस्तीफ़ा दिया है। स्वास्थ्य मंत्री के नाते मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को जिम्मेदारी लेते हुए मामले में इस्तीफ़ा देना चाहिए। ये मांग शिमला ग्रामीण के कांग्रेसी विधायक विक्रमादित्य सिंह ने की है। विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि बिंदल का इस्तीफ़ा राजनीतिक ढोंग है। ये लोगों की आंख में धूल झोंकने जैसा है। लेकिन प्रदेश की जनता सब जानती है उचित समय पर सरकार को जवाब देगी।

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को अनुभव की कमी है व अफ़सर उनके ऊपर हावी है। मुख्यमंत्री को चाहिए था कि कोरोना काल में पूर्व मुख्यमंत्रियों वीरभद्र सिंह, शांता कुमार व प्रेम कुमार धूमल के अनुभव का लाभ उठाकर सलाह लें।

मुख्यमंत्री को राजनीति को अलग रखकर इन नेताओं के अनुभव का लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने मांग उठाई कि विजिलेंस जांच पर उन्हें भरोसा नहीं है। इसलिए मामले की जांच रिटायर जज या फ़िर सीबीआई से करवाई जाए। ताकि दूध का दूध व पानी का पानी हो सके।

—PTC NEWS—