दीपेंद्र हुड्डा बोले- बरोदा के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में आ चुकी है अविश्वास की दरार

Congress MP Deepender Hooda
दीपेंद्र हुड्डा बोले- बरोदा के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में आ चुकी है अविश्वास की दरार
  • बरोदा के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में आ चुकी है अविश्वास की दरार- दीपेंद्र सिंह हुड्डा
  • कभी भी ढह सकती है असुरक्षित हो चुकी गठबंधन रूपी इमारत- सांसद दीपेंद्र
  • बीजेपी को नहीं मिला जेजेपी का वोट वाले मुख्यमंत्री के बयान पर क्या है जेजेपी का स्टैंड?
  • बरोदा की जनता ने इस सरकार के ख़िलाफ़ ‘राइट टू रिकॉल’ का इस्तेमाल किया- सांसद दीपेंद्र
  • 13 दिसंबर को भूपेंद्र सिंह हुड्डा करेंगे आगामी संघर्ष के रोडमैप का ऐलान- सांसद दीपेंद्र
  • इस सरकार का पूरी तरह पतन होने तक जारी रहेगा हमारा संघर्ष- सांसद दीपेंद्र

चंडीगढ़। चंडीगढ़ में पत्रकारों से रूबरू हुए दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने बीजेपी-जेजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बरोदा उपचुनाव के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में अविश्वास की दरार आ चुकी है। सरकारी नियम है कि इमारत में दरार आने के बाद उसे असुरक्षित घोषित कर दिया जाता है। इसलिए ये सरकार असुरक्षित हो चुकी है और कभी भी ढह सकती है।

Congress MP Deepender Hooda
दीपेंद्र हुड्डा बोले- बरोदा के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में आ चुकी है अविश्वास की दरार

उन्होंने कहा कि बरोदा में कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत के बाद गठबंधन सहयोगियों में इस कदर अविश्वास बढ़ गया है कि मुख्यमंत्री ने सार्वजनिक तौर बीजेपी को जेजेपी का वोट नहीं मिलने की बात कहनी पड़ी। ऐसे में जेजेपी को बताना चाहिए कि वो मुख्यमंत्री के इस बयान को स्वीकार करती है या अस्वीकार करती है। उपचुनाव के नतीजे ने गठबंधन सहयोगियों में भरोसे का संकट खड़ा कर दिया है। जबकि चुनाव के दौरान ख़ुद बीजेपी उम्मीदवार का मुख्यमंत्री से भरोसा उठ गया था। इसलिए चुनाव कैंपेन के आख़िरी दौर में योगेश्वर दत्त के बैनर्स से मुख्यमंत्री की फोटो को ग़ायब कर दिया गया था।

यह भी पढ़ें- अब शादियों में 200 की जगह 50 लोग ही हो सकेंगे शामिल, सरकार ने लिया फैसला
सांसद दीपेंद्र ने मुख्यमंत्री के उस बयान को हास्यास्पद बताया, जिसमें मुख्यमंत्री ने बीजेपी-जेजेपी गठबंधन की वोट बढ़ने का दावा किया था। दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि विधानसभा चुनाव में दोनों दलों को कुल 70 हज़ार वोट मिले थे और उपचुनाव में सिर्फ 50000 वोट मिले हैं। मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि 50 हज़ार ज्यादा होते हैं या 70 हज़ार?

Congress MP Deepender Hooda
दीपेंद्र हुड्डा बोले- बरोदा के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में आ चुकी है अविश्वास की दरार

सांसद दीपेंद्र ने कहा कि मुख्यमंत्री सच से नज़रें चुरा रहे हैं। सच ये है कि कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में करीब 40 हज़ार वोट मिले थे और उपचुनाव में 60 हज़ार वोट मिले हैं। यानी महज 1 साल के भीतर सत्ता और गठबंधन होने के बावजूद बीजेपी-जेजेपी के 20 हज़ार वोट कम हो गए और कांग्रेस के 20 हज़ार वोट बढ़ गए हैं। अगर नतीजे के इस आंकड़े को बाक़ी विधानसभा सीटों पर अप्लाई किया जाए तो कांग्रेस के पास 70 सीटें होंगी। एक सवाल के जवाब में सांसद ने कहा कि गठबंधन दलों के 20 हज़ार वोट कांग्रेस की तरफ शिफ्ट हुए हैं। बीजेपी और जेजेपी दोनों आपस में तय करें कि किसका कितना वोट कांग्रेस की तरफ आया है।

यह भी पढ़ें- पंजाब के सीएम पर धनखड़ ने साधा निशाना, कहा- राज्य की इकोनॉमी को तबाह किया जा रहा
दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार ने सरपंचों के लिए ‘राइट टू रिकॉल’ का क़ानून बनाया है। इस क़ानून को सबसे पहले सरकार को अपने विधायकों पर लागू करना चाहिए और उनसे इस्तीफ़ा लेकर दोबारा चुनाव करवाना चाहिए। बरोदा की जनता ने सरकार के ख़िलाफ़ अपने ‘राइट टू रिकॉल’ का इस्तेमाल कर लिया है। जनता ने सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव पारित किया है। इस जनादेश को लेकर हम पूरे हरियाणा में जाएंगे। सरकार के ख़िलाफ़ आगामी संघर्ष के रोडमैप का ऐलान ख़ुद चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा 13 दिसंबर को गोहाना में होने वाले कार्यकर्ता सम्मेलन में करेंगे। उनका ये संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक इस सरकार का पूरी तरह पतन नहीं हो जाता। बीजेपी-जेजेपी सरकार जितनी जल्दी सत्ता से बाहर होगी, प्रदेश के लिए उतना ही बेहतर होगा।

Congress MP Deepender Hooda
दीपेंद्र हुड्डा बोले- बरोदा के नतीजों के बाद गठबंधन रूपी इमारत में आ चुकी है अविश्वास की दरार

वहीं बरोदा से नवनिर्वाचित विधायक इंदुराज नरवाल उर्फ भालू ने कहा कि वो बरोदा के विकास और सरकार की तरफ से हाल ही में घोषित योजनाओं को पूरा करवाने के लिए मुख्यमंत्री से लेकर हर मंत्री और संतरी के दरवाज़े पर जाएंगे। वो फौरन मुख्यमंत्री से मिलने के लिए वक्त मांगेंगे और उनसे चुनाव के दौरान किए गए वादों को पूरा करने की मांग करेंगे।

एक सवाल के जवाब में नरवाल ने कहा कि पूरी कांग्रेस पार्टी उनके लिए सम्मानित है। वो उन तमाम पार्टी नेताओं के आभारी हैं जिन्होंने उन्हें जिताने के लिए चुनाव प्रचार किया और उन्हें आशीर्वाद दिया। बरोदा की जनता ने चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नाम और उनके 10 साल के काम पर उन्हें वोट दिया है। नरवाल ने कहा कि दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने जिस तरह पूरे चुनाव की कमान संभाली और उन्हें जिताने के लिए दिन-रात मेहनत की, इसके लिए वो सांसद दीपेंद्र का आभार व्यक्त करते हैं।