कोरोना लॉकडाउन के दौरान भाजपा के धरने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

By Arvind Kumar - May 05, 2021 3:05 pm

चंडीगढ़। हरियाणा भाजपा द्वारा प्रदेशभर में धरना देकर चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर विरोध प्रदर्शन किया गया। झज्जर के जिला सचिवालय में खुद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ओपी धनखड़ 2 घंटे के लिए सांकेतिक धरने पर बैठे। धनखड़ ने बंगाल चुनाव के बाद हो रही हिंसा को लोकतंत्र के लिए शर्मनाक घटना बताया। उन्होंने कहा कि चुनाव में हार जीत होती रहती है लेकिन जो रिपोर्ट बंगाल से आ रही हैं उसमें कार्यकर्ताओं की हत्या हो रही है, बलात्कार की भी खबरें छपी हैं यह सब चीजें लोकतंत्र के लिए कलंक है।

कोरोना लॉकडाउन के दौरान भाजपा के धरने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

धनखड़ ने कहा कि हिंसा के प्रति अपना रोष और दुख जताने के लिए आज पूरे हरियाणा में सांकेतिक धरने पर बैठे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना को देखते हुए हमने सिर्फ 5 लोगों के साथ धरने पर बैठने का फैसला लिया है।
इसके साथ साथ ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि उनकी पार्टी ने बंगाल में अच्छा प्रदर्शन किया है। 3 से 77 पर पहुंचे हैं लेकिन कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टी जीरो हो गई हैं। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन में भी कम्युनिस्ट लोग घुसे हुए हैं। लाल झंडे वालों को भी बंगाल चुनाव के बाद पता चल गया कि कम्युनिस्ट का कोई भविष्य नहीं है और देश की जनता ने कम्युनिस्टों को नकार दिया है।

कोरोना लॉकडाउन के दौरान भाजपा के धरने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

यह भी पढ़ें- चंडीगढ़ में सबको फ्री में लगेगा कोरोना वैक्सीन का टीका

इस बीच कांग्रेस ने बीजेपी के इस धरने प्रदर्शन पर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना महामारी को लेकर हरियाणा में लॉकडाउन और धारा 144 लागू है, लेकिन भाजपा नेता कोरोना मरीजों की मदद के बजाय लॉकडाउन और धारा 144 की जमकर धज्जियां उड़ाकर हर जिले में धरने पर बैठे हैं। काश भाजपा नेता कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन, दवाइयों, बेड, वेंटीलेटर के लिए आवाज उठाते।

adv-img
adv-img