कोरोना वायरस को दी मात, 244 से ज्यादा छात्रों और अन्य की रिपोर्ट नेगटिव

Coronavirus: All Indians at Manesar Camp Test Negative
कोरोना वायरस को दी मात, 244 से ज्यादा छात्र और अन्य की रिपोर्ट नेगटिव

गुरुग्राम। (नीरज वशिष्ठ) कोरोना वायरस ने जहां चीन में कहर बरपाया हुआ है तो वहीं इसका खौफ पूरे विश्व में फैला हुआ है। सभी देशों की प्राथमिकता अपने नागरिकों को चीन से निकालने की है तो वहीं वायरस से बचाव के भी हर संभव जतन किए जा रहे हैं। 1 फरवरी को भारत सरकार भी चीन में फंसे भारतीय छात्रों और अन्यों को एयर इंडिया के विमान से वापस लेकर आई थी। भारत लाए गए सभी छात्रों को कोरोना वायरस से इफेक्टेड होने की आशंका के चलते गुरुग्राम के मानेसर स्थित आर्मी कैंप में बनाए गए अस्थाई अस्पताल में रखा गया था। आर्मी के अधिकारियों के मुताबिक करीब 244 छात्र और दूसरे लोगों को 14 बैरक में रखा गया था। जहां ये सभी 24 घंटे आर्मी के डॉक्टर और अन्य स्टाफ की देखरेख में रहते थे।

Coronavirus: All Indians at Manesar Camp Test Negative
कोरोना वायरस को दी मात, 244 से ज्यादा छात्र और अन्य की रिपोर्ट नेगटिव

आर्मी के द्वारा बनाए गए कैंप में करीब 17 दिन रहने के बाद अब सभी को अपने-अपने घर भेजा जा रहा है। दरअसल इस दौरान सभी कोरोना वायरस संदिग्धों के अलग-अलग टेस्ट भी किए गए जिसमें सभी की रिपोर्ट नेगटिव पाई गई है। आर्मी के मुताबिक सभी लोगों के लिए रहने, खाने और बाकि व्यवस्थाएं डॉक्टरों की निगरानी में जा रही थीं। इसके अलावा जिस जगह ये सभी रह रहे थे या फिर इनके कपड़ों को भी किसी भी तरह के इंफेक्शन से बचाव के लिए ट्रीट किया जाता था। आर्मी के अधिकारियों की माने शुरुआत में इन्हें यहां रखने में कुछ परेशानी का सामना भी करना पड़ा।

Coronavirus: All Indians at Manesar Camp Test Negative
कोरोना वायरस को दी मात, 244 से ज्यादा छात्र और अन्य की रिपोर्ट नेगटिव

दरअसल आर्मी कैंप से जुड़े सिविलियन सप्लायर्स को जब इनके कैंप में आने की जानकारी मिली तो उन्होंने उन्होंने काम तक करने से मना कर दिया लेकिन आर्मी ने सभी व्यवस्था अपने स्तर पर संभाली।

Coronavirus: All Indians at Manesar Camp Test Negative
कोरोना वायरस को दी मात, 244 से ज्यादा छात्र और अन्य की रिपोर्ट नेगटिव

वुहान और चीन के अन्य शहर से आए इन छात्रों और अन्य लोगों की माने तो 23 जनवरी को उन्हें जब चीन में कोरोना वायरस के फैलने के बारे में पता लगा तो डर और दहशत के बीच जल्द से जल्द अपने देश लौटने की उम्मीद शुरु कर दी थी। छात्रों की माने तो चीन के वुहान में सड़कों पर सन्नाटा पसर गया था तो वहीं खाने और दूसरी चीजों के लिए अफरातफरी मची हुई थी। चीन से वापस लौटे लोगों की माने तो आर्मी के द्वारा उन्हें बेहतर सुविधाएं दी गईं।

यह भी पढ़ें: नार्कोटिक स्नीफर कुत्ते खरीदेगी हरियाणा पुलिस, मादक पदार्थों की करेंगे पहचान

—PTC NEWS—