राजनीति

दुष्यंत चौटाला ने दोहराया- जिस दिन किसानों की MSP को सुनिश्चित नहीं कर पाया तो दूंगा इस्तीफा  

By Arvind Kumar -- December 10, 2020 4:12 pm -- Updated:Feb 15, 2021

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार की अनौपचारिक कैबिनेट बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बैठक में पंचायत चुनाव, आगामी फसलों की खरीद व्यवस्था आदि विषयों पर चर्चा हुई है। बैठक में पंचायत चुनाव को समय पर करवाने के लिए फैसला लिया गया है।

Haryana Deputy CM Dushyant Chautala दुष्यंत चौटाला ने दोहराया- जिस दिन किसानों की MSP को सुनिश्चित नहीं कर पाया तो दूंगा इस्तीफा

इस दौरान किसान आंदोलन पर डिप्टी सीएम ने कहा कि किसानों के मामले में पहले से ही हमारी पार्टी अपना स्टैंड स्पष्ट कर चुकी है। उन्होंने कहा कि केंद्र और किसान संगठनों की निरंतर बातचीत जारी है। जल्द यह विषय सुलझने की उम्मीद है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्य सरकार बेहतर तरीके से किसानों की फसल खरीद रही है।

Haryana Deputy CM Dushyant Chautala दुष्यंत चौटाला ने दोहराया- जिस दिन किसानों की MSP को सुनिश्चित नहीं कर पाया तो दूंगा इस्तीफा

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हम राज्य में किसानों की फसलों के एक-एक दाने पर एमएसपी सुनिश्चित कर रहे हैं। जिस दिन किसानों की एमएसपी को सुनिश्चित नहीं कर पाया तो मैं इस्तीफा दे दूंगा।

यह भी पढ़ें- अभय चौटाला बोले- किसान संगठन बोलेंगे तो सबसे पहले दूंगा इस्तीफा

यह भी पढ़ें- पहले स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाईन वर्कर्ज को लगेगी वैक्सीन फिर आएगा आम लोगों का नंबर

यह भी पढ़ें- BJP अध्यक्ष के काफिले की गाड़ी पर हमला, नड्डा बोले- ज्यादा दिन नहीं चलेगी अराजकता

Haryana Deputy CM Dushyant Chautala

दुष्यंत चौटाला ने दोहराया- जिस दिन किसानों की MSP को सुनिश्चित नहीं कर पाया तो दूंगा इस्तीफादुष्यंत ने बताया कि चौ. देवीलाल जी कहते थे कि किसानों की बात सरकार तभी सुनती है जब किसान की हिस्सेदारी सरकार में हो। किसानों को उनकी फसल के उचित दाम दिलाना उनकी पूरी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि किसानों की बात रखने के लिए मैं निरंतर केंद्र सरकार के संपर्क में हूं और मेरी केंद्रीय मंत्रियों से बातचीत हुई है।
वहीं दुष्यंत ने आरोप लगाया कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने पंजाब के किसानों को प्रताड़ित किया है। बिजाई के सीजन में पंजाब के किसान खाद-बीज नहीं मिलने के कारण परेशान रहे। डिप्टी सीएम ने बताया कि बॉर्डर पर बैठे किसानों के धरने के लिए 1000 से भी ज्यादा कर्मचारी ड्यूटी पर हैं।