हरियाणा

किसान आंदोलन को शाहीनबाग ना समझे सरकार: टिकैत

By Arvind Kumar -- April 07, 2021 3:37 pm -- Updated:April 07, 2021 3:37 pm

यमुनानगर। (तिलक भारद्वाज) किसानों को धरने पर बैठे पांच माह के करीब हो चुके हैं और अब राकेश टिकैत ने इस अंदोलन को 2023 तक बढ़ाने की भी बात कह दी है। हालांकि अब कोरोना के चलते उन्होंने कहा कि वह सरकार की गाइडलाइन को मानने की बात कही है। वहीं उन्होंने कहा कि अगर सरकार उन्हें कॉल करती है तो आंदोलन को लेकर बात होगी अन्यथा आंदोलन जारी रहेगा।

Farmer Leader Rakesh Tikait किसान आंदोलन को शाहीनबाग ना समझे सरकार: टिकैत

वहीं राकेश टिकैत ने कहा कि उनपर जो हमला हुआ वो बीजेपी ने करवाया था। उन्होंने कहा कि हमले के पीछे एबीवीपी के कार्यकर्ताओं का हाथ था।

यह भी पढ़ें- बीजेपी सांसद का किसानों ने किया विरोध, गाड़ी पर किया पथराव

यह भी पढ़ें- न्यायमूर्ति नथालपति वेंकट रमण होंगे भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश

Farmer Leader Rakesh Tikait किसान आंदोलन को शाहीनबाग ना समझे सरकार: टिकैत

राकेश टिकैत ने कहा कि अब वो हिमाचल में जा रहे हैं। वह हिमाचल के किसानों को भी अपने साथ मिलाकर अब तीन काले कानून के साथ-साथ बीज बिल का भी विरोध कर रहे हैं क्योंकि यह बिल तीन काले कानून से भी खतरनाक है।

Farmer Leader Rakesh Tikait किसान आंदोलन को शाहीनबाग ना समझे सरकार: टिकैत

टिकैत ने कहा कि सरकार इस अंदोलन को शाहीनबाग का अंदोलन न समझे। इसके लिए किसान हर समय तैयार है। अगर सरकार बात के लिए स्वयं कॉल करती है तो उसके लिए किसान तैयार है नहीं तो यह अंदोलन 2023 तक भी चलेगा।

  • Share