हरियाणा में भी सामने आया किसान ऋण घोटाला, बिना कर्ज लिए ही किसान हो गए ऋणी!

पलवल। राजस्थान और मध्यप्रदेश के किसान ऋण घोटाले की खबरों के बीच हरियाणा में भी किसान ऋण घोटाला सामने आया है।

Farmer Loan Scam Haryana

पलवल। (गुरुदत्त गर्ग) राजस्थान और मध्यप्रदेश के किसान ऋण घोटाले की खबरों के बीच हरियाणा में भी किसान ऋण घोटाला सामने आया है। अभी तक हुई जांच में करीब 40 करोड़ रुपए के ऐसे ऋण का घोटाला सामने आ चुका है जो किसानों को दिया ही नहीं गया और उनके खातों में कर्ज लिख दिया गया! यह घोटाला मुख्य रूप से वर्ष 2013 से 2015 के बीच दी फरीदाबाद केंद्रीय सहकारी बैंक लिमिटेड की पेक्स गुरवारी और शाखा चांदहट में हुआ है! किसान ऋण घोटाला सामने आने पर अब चांदहट थाने में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू हो गई है।

नोटिस मिलने पर चला ऋण का पता

किसानों को इस ऋण का पता तब चला जब उन्हें सहकारी बैंक से भारी भरकम कर्जे के नोटिस भेजे गये। किसानों का कहना है कि उन्होंने एक पैसा भी कर्ज के रूप में नहीं लिया है। लेकिन उन्हें चार लाख-दस लाख- सोलह लाख और बीस लाख तक का कर्जदार बनाया हुआ था। जिन लोगों के पास कर्जे के नोटिस पहुंचे उनमें 68 ऐसे लोगों के नाम भी शामिल हैं जिनकी मौत कर्जे के समय से बीस साल, तीस साल और चालीस साल पहले हो चुकी है।

किसानों ने की घोटालेबाजों पर सख्त कार्रवाई की मांग

कई किसानों ने बताया कि उनके पिता की मौत हुए वर्षों बीत चुके हैं। उन्होंने कभी कर्जा लिया नहीं। दर्जनों ऐसे गरीब भी हैं जिनके पास जमीन भी नहीं है, उन्हें भी खाद-बीज का लाखों रुपए का खातों में कर्जदार बना दिया गया है। इन सभी किसानों ने सरकार से मांग की है कि उन्हें फर्जी कर्जे से मुक्ति दिलाई जाए और जिन लोगों ने इस बड़े घोटाले को अंजाम दिया है उनपर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ेंयहां गुरुओं ने ही कर दिया फर्जीवाड़ा!, प्रिंसिपल-प्रोफेसर पर FIR