आंदोलन में शामिल हरियाणा के किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

Haryana farmer commits suicide
आंदोलन में शामिल हरियाणा के किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

बहादुरगढ़। आंदोलन में शामिल एक और किसान ने आत्महत्या कर ली। किसान ने बहादुरगढ़ बाईपास पर सर्विस रोड के साथ पेड़ पर रस्सी बांधकर फांसी लगा ली। मृतक किसान राजबीर हिसार के सिसाय गांव का रहने वाला था।

Haryana farmer commits suicide
आंदोलन में शामिल हरियाणा के किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

जानकारी के मुताबिक राजबीर लगातार किसान आंदोलन और लंगर सेवा में जुटा हुआ था। मरने से पहले राजबीर ने दो पेज का सुसाइड नोट लिखा है। सुसाइड नोट में उसने आखिरी इच्छा जताई है कि तीनों कृषि कानून रद्द हों।
यह भी पढ़ें- हरियाणा सरकार की अनूठी पहल; नाम मात्र फीस पर करवाएं अपने पानी की जांच

यह भी पढ़ें- छेड़छाड़ से आहत छात्रा ने जहर खाकर दी जान

Haryana farmer commits suicide
आंदोलन में शामिल हरियाणा के किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

वहीं राजबीर ने किसानों से अपील की है कि कानून रदद् करवाकर ही घर जाना। किसान ने सुसाइड नोट में खुद को दीपेंद्र हुड्डा और बलराज कुंडू का फैन भी बताया। बता दें कि टिकरी बॉर्डर पर अब तक चार किसान खुदकुशी चुके हैं।

Haryana farmer commits suicide
आंदोलन में शामिल हरियाणा के किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

गौरतलब है कि किसान आंदोलन को 100 से दिन से ज्यादा का वक्त हो गया है लेकिन अभी तक सरकार और किसानों के बीच बात नहीं बन पाई है। जहां किसान तीनों कृषि कानूनों की वापसी पर अड़े हैं वहीं सरकार इन कानूनों को वापस लेने के मूड में नहीं है। ऐसे में ये आंदोलन लंबा खिंचता जा रहा है।