फसलें एमएसपी पर नहीं खरीदी गई तो सबसे पहले दूंगा इस्तीफा: दुष्यंत चौटाला

If crops were not purchased on MSP, I will resign first Dushyant Chautala (5)

 जींद/चंडीगढ़। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि विपक्षी दलों के नेता तीन नए कृषि अध्यादेशों पर किसानों को बहकाने का काम कर रहे हैं, जबकि सच्चाई यह है कि किसानों की फसलें न्यूनतम समर्थन मूल्यों पर खरीदी जाएंगी और मंडी व्यवस्था पर भी इन अध्यादशों का कोई प्रतिकूल असर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अगर किसानों की फसलें एमएसपी पर नहीं खरीदी जाती है तो, सबसे पहले उनके द्वारा इस्तीफा दिया जाएगा। वे वीरवार को जींद स्थित जननायक जनता पार्टी के जिला कार्यालय पर जनसमस्याएं सुनने के बाद पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे।

If crops were not purchased on MSP, I will resign first Dushyant Chautala (5)

educareडिप्टी सीएम कहा कि इन तीन कृषि अध्यादेशों का किसानों को फायदा होगा, न कि नुकसान। उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज से सात वर्ष पहले इस पार्टी के नेता इन अध्यादेशों को लागू करने जा रहे थे, लेकिन आज जब यह अध्यादेश आ गये हो गए है तो अब उन्हीं के द्वारा ही इनका विरोध किया जा रहा है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले गेंहू खरीद के सीजन में भी विपक्षी दलों के नेता इस्तीफे की मांग कर रहे थे लेकिन जब कोरोना काल में भी किसानों की फसलों को व्यवस्थित तरीके से खरीदकर पैसा सीधा किसानों के खातों में डालने का काम किया गया और किसान भी इस व्यवस्था से खुश नजर आए, तब उन नेताओं की बोलती बंद हुई।

यह भी पढ़ेंकिसानों के आंदोलन की पल पल की अपडेट सिर्फ पीटीसी न्यूज पर

If crops were not purchased on MSP, I will resign first Dushyant Chautala (5)

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार अब जब मंडियों में किसानों की खरीफ सीजन की फसलें निर्धारित एमएसपी पर खरीद जाएगी तो विपक्षी दलों की एक बार फिर बोलती बंद होगी। उन्होंने कहा कि किसानों की फसलों का एक-एक दाना एमएसपी पर खरीदा जाएगा। सरकार द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को बढ़ाकर जता दिया है कि अध्यादेशों से एमएसपी पर किसी प्रकार का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा इसलिए किसी भी किसान को भ्रमित व चिंतित होने की कोई जरूरत नहीं है।

If crops were not purchased on MSP, I will resign first Dushyant Chautala (5)

जींद में बनेगा लेबर बोर्ड का मुख्यालय
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि जींद जिला में लेबर बोर्ड का मुख्यालय स्थापित करवाया जाएगा। इसके लिए जींद के आस-पास जमीन तलाशने के निर्देश अधिकारियों को दे दिए गए है। उन्होंने काह कि यहां श्रम बोर्ड का मुख्यालय स्थापित होने से इस क्षेत्र का काफी विकास होगा और लोगों को अपने कार्य करवाने के लिए जिला से बाहर जाने की आवश्यकता नहीं रहेगी। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जींद-रोहतक नेशनल हाई-वे का बंद पड़ा कार्य भी शुरू हो गया है और इस मार्ग पर काम शुरू होने से लोगों में खुशी का माहौल है।

यह भी पढ़ेंकृषि मंत्री जेपी दलाल का जबरदस्त विरोध, किसानों और PTI टीचरों ने दिखाए काले झंडे

सरकार करेगी लोक कलाकारों का सहयोग
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से सभी क्षेत्रों के विकास पर काफी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है, इन क्षेत्रों में दोबारा से प्रगति शुरू करने के लिए सरकार द्वारा पूरा सहयोग किया जा रहा है। उन्होंने काह कि लोक कलाकारों पर भी कोरोना काल का काफी विपरित असर पड़ा है और कलाकारों का सहयोग करने के लिए सरकार जल्द ही कोई फैसला लेगी ।