उद्योगपतियों के सुझाव शामिल कर बनाई जाएगी नई औद्योगिक नीति: डिप्टी सीएम

New Industrial policy to include suggestions of industrialists

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार पहली बार राज्य के उद्योगपतियों से सुझाव लेकर उनकी पंसद के अनुसार ‘हरियाणा इंटरप्राइजिज प्रमोशन पोलिसी-2020’ का निर्माण1 करने जा रही है ताकि प्रदेश में उद्योगों के लिए और अधिक अनुकूल माहौल बन सके। यह जानकारी आज यहां हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने ‘हरियाणा इंटरप्राइजिज प्रमोशन पोलिसी-2020’ का प्रारूप तैयार करने के लिए बुलाई गई विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से रूबरू होते हुए दी।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि वर्ष 2015 में हरियाणा सरकार ने ‘हरियाणा इंटरप्राइजिज प्रमोशन पोलिसी-2015’ बनाई थी जिसकी मान्य 1अवधि 5 वर्ष थी जो कि 14 अगस्त 2020 तक है। उन्होंने कहा कि नई औद्योगिक नीति का ड्राफ्ट तैयार करके इसे कैबिनेट में रखा जाएगा और 15 अगस्त, 2020 से प्रदेश में नई औद्योगिक पॉलिसी को लागू किया जाएगा।
New Industrial policy to include suggestions of industrialists

अब राज्य के उद्योगपतियों से सलाह-मशविरा करके नई ‘हरियाणा इंटरप्राइजिज प्रमोशन पोलिसी-2020’ बनाई जा रही है। इसके लिए सरकार ने उद्योगपतियों की विभिन्न 128 एसोसिएशनों को नई पोलिसी के लिए सुझाव देने हेतु पत्र लिखे थे जिनमें से 68 एसोसिएशनों ने अपने-अपने सुझाव दिए हैं। उन एसोसिएशनों के सुझाव पर आज अधिकारियों के साथ व्यापक स्तर पर चर्चा करने उपरांत डिप्टी सीएम ने आगामी एक सप्ताह के अंदर इन सुझावों को शामिलकर दिशा-निर्देश तैयार करने के निर्देश दिए है।

New Industrial policy to include suggestions of industrialists

उन्होंने कहा कि नई औद्योगिक नीति में प्रदेश के युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार देने, उद्योगों को सहूलियत देने तथा प्रदेश में नए उद्योगों के लिए देसी-विदेशी निवेश बढ़ाने व प्रदेश में औद्योगिक विकास की गति बढ़ाने पर फोकस रहेगा।

—PTC NEWS—