adv-img
अपराध/हादसा

पिता अमेरिका में इंजीनियर, पैसों के लिए बेटा बन गया रिश्तेदार का हत्यारा

By Vinod Kumar -- October 28th 2022 06:17 PM -- Updated: October 28th 2022 06:18 PM

लखनऊ/जयकृष्णा: लखनऊ में रिटायर्ड मर्चेंट नेवी कर्मी नंदलाल कामता प्रसाद तिवारी की हत्या का लखनऊ पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक पैसों के लेनदेन के विवाद में बुजुर्ग के नाती रजनीश ने ही गला रेत कर मौत के घाट उतारा था। पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत उसके दो दोस्तों को भी हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। रजनीश ने ही मृतक नंदलाल की गर्दन काटी थी।

घटना लखनऊ के मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र के खुजेहटा गांव की है। जहां बीते बुधवार को सुबह 6 बजे ग्रामीणों ने गांव के बाहर एक खून से लथपथ शव देखा था। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से 2 धारदार चाकू, डायरी और पेन बरामद किया था। डायरी में दिए गए मोबाइल नंबर से पुलिस ने मृतक की शिनाख्त की और घटना के बारे में परिजनों को जानकारी दी।

मृतक के बेटे राजकुमार की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। मृतक नंदलाल कामता प्रसाद तिवारी मर्चेंट नेवी से रिटायर्ड थे। मृतक नंदलाल तिवारी मूल रूप से जौनपुर जिले के रहने वाले थे। मृतक नंदलाल कामता प्रसाद तिवारी कृष्णा नगर के महाराजगंज इलाके में बेटे राजकुमार के साथ रहते थे।

रिटायर्ड होने के बाद नंदलाल ने कृष्णा नगर स्थित घर में आटा चक्की लगाई थी। नंदलाल के बेटे राजकुमार ने दो शादियां की थी। पत्नी से विवाद के बाद कृष्णा नगर पुलिस ने राजकुमार को जेल भेज दिया था। जेल जाने से पहले राजकुमार ने आरोपी रजनीश को फोन, लैपटॉप और डेबिट कार्ड दिया था। कुछ दिन पहले जेल से छूटे राजकुमार को यह सारी चीजें टूटी हुई वापस मिली। उसने खाता चेक किया तो उसमें लगभग 5 लाख रुपए गायब थे।

बार-बार कहने के बाद भी जब रिश्तेदार रजनीश ने रुपए के बारे में कुछ नहीं बताया तो राजकुमार ने पिता नंदलाल को बीच में डाला। नंदलाल ने रुपए वापस मांगे तो रजनीश ने साइबर जालसाज द्वारा रुपए निकालने की बात कही।

एसीपी मोहनलालगंज धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी के मुताबिक हत्या के आरोप में नंदलाल कांता प्रसाद तिवारी के नाती रजनीश को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी ने पुलिस को बताया, कि प्रतापगढ़ निवासी चंदन और प्रदीप के साथ उसने हत्या का प्लान बनाया था। सीबीसीआईडी अफसर से मिलवाने का झांसा देकर नंदलाल को घर से बुलाया और फिर मोहनलालगंज इलाके में हत्या कर दी। हत्या के बाद शव फेंकने के लिए वह चादर अपने साथ लाए थे।

एसीपी मोहनलालगंज धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि, पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने घटनास्थल पर ही हत्या करने की बात कबूली। हत्यारों ने पहले कार में पड़े बाइक के क्लच वायर से नंदलाल का गला कसा था। इसके बाद चाकू से गर्दन पर तब तक वार किया, जब तक आधी गर्दन नही कट गई। फिर शव को चादर में लपेटा और थोड़ा आगे बढ़कर झाड़ियों में फेंक कर भाग गए। घटना के बाद मोहनलालगंज कोतवाली प्रभारी कुलदीप दुबे के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। ब्लाइंड मर्डर केस का पुलिस टीम ने 48 घंटे के अंदर खुलासा किया है।

जानकारी के मुताबिक रिटायर्ड मर्चेंट नेवी कर्मी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए मुख्य आरोपी रजनीश के पिता अमेरिका में इंजीनियर है। रजनीश को कोई नौकरी नहीं मिली तो पिता ने गांव में ही वेल्डिंग की बड़ी दुकान खुलवा दी। प्रतापगढ़ और लखनऊ में मकान बनवा दिया। रजनीश प्रतापगढ़ के साथ ही लखनऊ की वृंदावन कॉलोनी में रहता है। रजनीश ने हत्या करने के लिए अपनी ही वेल्डिंग की दुकान में काम करने वाले 2 कर्मचारियों की मदद ली थी। पुलिस ने मुख्य आरोपी रजनीश के साथ उसके दो कर्मचारियों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

  • Share