हरियाणा

निगमबोध घाट पर राजू श्रीवास्तव का हुआ अंतिम संस्कार, विदाई देने के लिए फैन्स का उमड़ा हुजूम

By Vinod Kumar -- September 22, 2022 12:35 pm

दिवंगत कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का आज दिल्ली के निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। राजू श्रीवास्तव के बेटे आयुष्मान ने राजू श्रीवास्तव को मुखाग्‍नि दी। श्मशान घाट पर राजू श्रीवास्तव को अंतिम विदाई देने के लिए फैन्स का भारी हुजूम उमड़ पड़ा।

कॉमेडियन और उनके दोस्त सुनील पॉल भी राजू श्रीवास्तव के अंतिम संस्कार में पहुंचे थे। उनके खास दोस्त कॉमेडियन सुनील पॉल ने कहा कि राजू आज के चार्ली चैप्लिन थे। बॉलीवुड फिल्म डायरेक्टर मधुर भंडारकर के साथ साथ कई लोग उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए निगमबोध घाट पहुंचे थे। इस दौरान उनकी पत्नी गाड़ी में बैठी हुई रोती नजर आई। राजू श्रीवास्तव के निधन के बाद वो पूरी तरह से टूट चुकी हैं। लोगों ने राजू श्रीवास्तव अमर रहे के नारे लगाए। फैन्स ने सोशल मीडिया पर भी उन्हें श्रद्धांजलि दी।

इससे पहले एंबुलेंस में राजू श्रीवास्तव का पार्थिव शरीर निगमबोध घाट पहुंचा। गाड़ी को फूलों से सजाया गया था। गाड़ी पर कॉमेडियन की हंसती मुस्कुराती फोटो लगाई गई थी। इस दौरान हर किसी की आंखे नम दिखाई। फैंस अपने चेहते सितारे की एक झलक पाने के लिए उत्सुक नजर आए।

बता दें कि पिछले महीने ही राजू श्रीवास्तव को अचानक हार्ट अटैक हुआ था जिसके बाद उनकी तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ गई थी। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां लंबे वक्त तक उनका इलाज चला, लेकिन उन्हें इसके बावजूद भी बचाया नहीं जा सका।

58 साल के राजू श्रीवास्तव होटल की जिम में वर्कआउट कर रहे थे। इसी दौरान अचानक ट्रेडमिल पर भागते समय राजू को कार्डियक अरेस्ट हुआ था और वो गिर गए थे। इससे उनके सिर पर गंभीर चोट लगी थी। इसके बाद उन्हें दिल्ली एम्स में वेंटिलेटर पर रखा गया था। कई दिनों के बाद उन्हें होश आया था। उनके स्वास्थ्य में सुधार की खबरें भी सामने आई थी, लेकिन कई दिनों तक जिंदगी और मौत से जूझते हुए बुधवार को राजू श्रीवास्तव का देहांत हो गया था।

राजू श्रीवास्तव के निधन पर पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर दुख जताया था। पीएम मोदी ने लिखा कि राजू श्रीवास्तव ने हंसी, हास्य और सकारात्मकता के साथ हमारे जीवन को रोशन किया। वह हमें बहुत जल्द छोड़कर चले गए लेकिन वह वर्षों तक अपने समृद्ध काम की बदौलत अनगिनत लोगों के दिलों में जीवित रहेंगे। उनका निधन दुखद है।

 

  • Share