अपराध/हादसा

कौन है संदीप 'केकड़ा', शर्प शूटर्स को इन्फॉर्म ना करता तो शायद बच जाती सिद्धू मूसेवाला की जान!

By Vinod Kumar -- June 07, 2022 12:24 pm

सिरसा/सुरेन सावंत: सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के तार सिरसा के गांव कालावाली से जुड़ते नजर आ रहे हैं। आरोप है कि कालावाली गांव के रहने वाले संदीप उर्फ केकड़ा ने ही सिद्धू मुसेवाला की रेकी की और उसकी खबर हत्यारों तक पहुंचाई।

आरोपी केंकड़ा के पिता बलदेव सिंह का कहना है कि मेरा बेटा नशे का आदी है। मेरे साथ भी झगड़ा करता और मुझे घर से निकाल रखा है। वह 10 -12 दिन पहले घर आया था। उसके बाद घर नहीं आया। बलदेव सिंह ने कहा कि मुझे भी उसने परेशान कर रखा है। मुझे छोटी लड़की की शादी भी करनी है। बलदेव सिंह ने कहा कि संदीप कभी घर आता था कभी नहीं आता था एक बार वह चिट्टा पीते भी पकड़ा गया था।

वहीं, संदीप उर्फ केंकड़ा के पड़ोसी गुरप्रीत का कहना है कि यह लड़का पहले तो ऐसा नहीं था पिता इसके बहुत गरीब हैं। हमारे साथ ही वह मजदूरी करता है। संदीप इन्हीं दिनों में चिट्टा पीने का आदी हो गया था। गुरप्रीत ने बताया कि परिवार में यह दो भाई और दो बहनें हैं पिता के साथ रहते हैं। मां की मौत हो चुकी है। हमें उम्मीद नहीं थी कि संदीप ऐसा काम करेगा।

 

बता दें कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में कालावाली से संदीप उर्फ केकड़ा को कल पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शुरुआती जांच में सामने आया कि केकड़ा अपने साथी के साथ मूसेवाला का फैन बनकर मूसा गांव पहुंचा। वह करीब 45 मिनट तक वहां रुका रहा। उसने चाय पी। फिर मूसेवाला के साथ सेल्फी ली। इसी बहाने देखा कि मूसेवाला के साथ गनमैन जा रहे हैं या नहीं? फिर जैसे ही मूसेवाला बिना सिक्योरिटी थार जीप चलाते हुए रवाना हुए, उसने शार्प शूटर्स को मुखबिरी कर दी।

सिधू मुसेवाला के घर के बाहर लगे CCTV फुटेज में संदीप उर्फ केकड़ा मूसेवाला की हत्या से 15 मिनट पहले संदिग्ध केकड़ा भी नजर आया। उसने किसे फ़ोन किया इस मामले में पुलिस इसकी जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि केकड़ा की मौसी गांव मूसा में रहती है वहीं, केकड़ा की बहन गांव मुसेवाला के साथ लगते गांव रामदत्ता में शादीशुदा है। केंकड़ा पर एनडीपीएस के 5 केस दर्ज हैं।

  • Share