जींद उपचुनाव में 18 प्रत्याशियों की जमानत जब्त, 16 को नोटा से भी कम मिले वोट

Jind By Election
जींद उपचुनाव में 18 प्रत्याशियों की जमानत जब्त, 16 को नोटा से भी कम मिले वोट

जींद। उपचुनाव में चुनावी मैदान में उतरे कई प्रत्याशियों की ऐसी हार हुई कि वो अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए। इस उपचुनाव में 21 में से 18 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई। हालांकि सुरजेवाला 932 वोटों से अपनी जमानत बचाने में कामयाब हो गए। वहीं 16 तो ऐसे प्रत्याशी हैं जिन्हें नोटा से भी कम वोट मिले हैं। इस चुनाव में 345 वोटरों ने नोटा का विकल्प चुना था।

क्यों जब्त होती है जमानत

दरअसल किसी भी चुनाव में कुल मतों का छठा हिस्सा प्राप्त नहीं करने पर प्रत्याशी की चुनाव आयोग में जमा की गई राशि जब्त हो जाती है। इस उपचुनाव में सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों से 10 हजार रुपये बतौर जमानत राशि चुनाव आयोग ने लिए थे। वहीं अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के प्रत्याशियों के लिए यह राशि पांच हजार रुपये थी। लेकिन 21 में से 18 प्रत्याशी अपनी जमानत राशि बचाने में भी कामयाब नहीं हो पाए।

यह भी पढ़ें : बराला का कटाक्ष, कहा- हुड्डा के रास्ते का कांटा तो निकल गया