डिप्टी सीएम बोले- मेवात को बनाएंगे ट्रांसपोर्ट व आईटी का हब, युवाओं के लिए बढ़ेगा रोजगार 

By Arvind Kumar - July 25, 2021 10:07 am

नूंह/चंडीगढ़। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि राज्य सरकार मेवात में उद्योगों व रोजगार को बढ़ावा देने के लिए “वन ब्लॉक वन प्रोडेक्ट” की योजना के तहत क्षेत्र को ट्रांसपोर्ट और इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी (आईटी) के हब के रूप में विकसित करेगी। उन्होंने कहा कि मेवात में सडकों को सुधारने के लिए हरियाणा सरकार 300 करोड़ रुपये खर्च करेगी। वे शनिवार को फिरोजपुर झिरका में आयोजित ईद व शिवरात्रि मिलन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

डिप्टी सीएम ने कहा कि राज्य सरकार प्रत्येक ब्लॉक में वहां की पारंपरिक कलाओं पर आधारित उद्योग विकसित करने की योजना पर कार्य कर रही है और इसके संबंध में मेवात से सरकार के पास क्षेत्र को ट्रांसपोर्ट हब बनाने सहित कई मांगें आई है। उन्होंने कहा कि सरकार इस पर कार्य करते हुए क्षेत्र को ट्रांसपोर्ट हब बनाने के लिए कार्य करेगी। डिप्टी सीएम ने कहा कि मेवात के सातों ब्लॉक में क्लस्टर अनुसार एमएसएमई को बढ़ावा दिया जाएगा, इससे स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। इसके साथ-साथ मेवात को इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी (आईटी) के क्षेत्र में भी विकसित किया जाएगा।

उपमुख्यंत्री ने कहा कि सडकों की दशा और दिशा सुधारने के लिए हरियाणा सरकार 300 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इसमें महत्वपूर्ण सोहना से राजस्थान बार्डर तक स्टेट हाइवे, पुन्हाना-सिकरावा सड़क निर्माण सहित अन्य प्रोजक्ट पर यह राशि खर्च की जानी है। उन्होंने कहा कि हम मेवात के बुनियादी ढांचे को मजबूत कर यहां के लोगों को सशक्त और मजबूत बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

दुष्यंत चौटाला ने क्षेत्र के लोगों की लंबे समय से लंबित झिरका के कॉलेज की मांग पर घोषणा करते हुए कहा कि इस कॉलेज का जल्द निर्माण करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए कृषि विभाग द्वारा जमीन चिन्हित करने का कार्य पूरा हो गया है और जल्द से जल्द इसे शिक्षा विभाग को ट्रांसफर करके इस साल के अंदर-अंदर कॉलेज का निर्माण कार्य शुरू करवाया जाएगा।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य है कि कृषि व ग्रामीण क्षेत्र को ज्यादा से ज्यादा मजबूती प्रदान की जाए, इसके लिए सरकार निरंतर कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सूबे में चार नई मंडिया स्थापित करने जा रही है। सरकार का उद्देश्य है कि किसानों की आय और उनकी उन्नति के रास्ते खोले जाएं। उन्होंने कहा कि सरकार ने निर्धारित फसलों पर एमएसपी जारी रखी हुई है तथा प्रदेश में कोई मंडी बंद नहीं हुई जबकि कुछ राजनीतिक लोग किसानों की आड़ में यह भ्रम फैलाने का काम कर रहे है कि कृषि कानूनों से प्रदेश में मंडियां व एमएसपी खत्म हो जाएंगी जबकि ऐसा कुछ नहीं है।

फिरोजपुर झिरका में ईद व शिवरात्रि मिलन समारोह में उन्होंने मंच से घोषणा करते हुए कहा कि फिरोजपुर झिरका में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए एक सामुदायिक भवन का निर्माण किया जाएगा। जिसके लिए उन्होंने 10 लाख रुपये देने की घोषणा की और इसके अतिरिक्त उन्होंने रामलीला मैदान की चार दीवारी के लिए 10 लाख, शिवमंदिर विकास समिति के लिए 11 लाख और पांच लाख रुपये गौशाला के लिए दान देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि मेवात का भाईचारा दुनिया के लिए मिसाल है। फिरोजपुर झिरका की श्री रामलीला कमेटी ने ईद व शिवरात्रि मिलन का जो कार्यक्रम आयोजित किया है उससे निश्चित ही पूरे देश में सांप्रदायिक सौहार्द का संदेश जाएगा।

दोनों समुदायों का आपसी प्यार और सद्भाव देखकर मन को बहुत खुशी हो रही है। इस प्रकार के आयोजन समाज हित के लिए बेहद जरुरी हैं। अन्य इलाकों के लोग भी इससे प्रेरणा लेकर अपने यहां भी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित कर भाईचारे को बढ़ावा देने का काम करें।

adv-img
adv-img