कृषि बिलों के पक्ष में खड़ा हुआ भारतीय किसान यूनियन

Indian Farmers Union
ये क्या! कृषि बिलों के पक्ष में खड़ा हुआ भारतीय किसान यूनियन

कुरुक्षेत्र। जहां एक ओर तमाम किसान संगठन तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं वहीं एक किसान संगठन ऐसा भी है जो इन कानूनों के समर्थन में खड़ा हुआ है। भारतीय किसान यूनियन कृषि बिलों के पक्ष में है। इस यूनियन के अध्यक्ष गुणी प्रकाश ने कहा कि कृषि बिल किसान और किसानों से जुड़े लोगों के जीवन में एक बेहतर बदलाव लेकर आएंगे।

Indian Farmers Union
ये क्या! कृषि बिलों के पक्ष में खड़ा हुआ भारतीय किसान यूनियन

उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों से एक नई क्रांति आएगी जो कि किसानों की आय को बढ़ाने के साथ-साथ आर्थिक रुप से मजबूती भी देगी। इसलिए भारतीय किसान यूनियन ने केन्द्र सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों का पक्ष लिया है और इन कानूनों की प्रशंसा भी की है।

Indian Farmers Union
ये क्या! कृषि बिलों के पक्ष में खड़ा हुआ भारतीय किसान यूनियन

गुणी प्रकाश ने कहा कि कुछ राजनैतिक स्वार्थी लोग अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए किसान हितैषी कानूनों का विरोध कर रहे हैं। इन लोगों का भारतीय किसान यूनियन कतई समर्थन नहीं करता है।

Indian Farmers Union
ये क्या! कृषि बिलों के पक्ष में खड़ा हुआ भारतीय किसान यूनियन

यह भी पढ़ें- आंदोलन में शामिल एक और किसान की मौत

यह भी पढ़ें- कंगना और दिलजीत दोसांझ के बीच ट्विटर पर छिड़ी तीखी ‘जंग’

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुणी प्रकाश ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम सीटीएम प्रीतपाल सिंह को एक ज्ञापन भी सौंपा है। उन्होंने प्रधानमंत्री को ज्ञापन के जरिए बताते हुए कहा कि देश के बड़े किसान नेताओं और किसान यूनियन ने बहुत पहले से ही किसानों के लिए उसकी फसल किसान की मर्जी से बेचने की मांग की थी ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने को आजादी मिले, इस मांग को केन्द्र सरकार ने पूरा किया और कृषि कानून लाकर किसानों को आजाद कर दिया।