2014 के 75 वादे अधूरे छोड़कर भाजपा ने फिर छोड़े 150 जुमले : दुष्यंत चौटाला

Dushyant Chautala 2
2014 के 75 वादे अधूरे छोड़कर भाजपा ने फिर छोड़े 150 जुमले : दुष्यंत चौटाला

चंडीगढ़। जननायक जनता पार्टी ने भाजपा के घोषणापत्र को 2014 के अधूरे वादों को दोहराने, भाजपा सरकार की विफलताओं की स्वीकारोक्ति और लोगों को झूठे ख्वाब दिखाने वाला दस्तावेज बताया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता दुष्यंत चौटाला ने बयान जारी कर कहा कि भाजपा के 2014 के चुनावी घोषणापत्र में 75 से ज्यादा वादे आज तक अधूरे हैं जिनमें से कई को 2019 के घोषणापत्र में भी शामिल किया गया है।

भाजपा के घोषणापत्र को पढ़कर दुष्यंत ने हरियाणवी लहजे में कहा कि भाजपा का हाल कुछ ऐसा है कि एक परीक्षा से लौटे एक बच्चे से पिता ने पूछा कि कैसा हुआ पेपर, जिस पर बेटे ने कहा कि लठ गाड़ आया। लेकिन बच्चा फेल हो गया। अगले साल पेपर देकर आने पर बेटे ने फिर से कहा कि लठ गाड़ आया। पिता ने अपने सिर पर हाथ मारकर कहा, वो पिछले साल जो लठ गाड्डा था, वो तो उखाड़ लेता पहले।

bjp-manifesto
2014 के 75 वादे अधूरे छोड़कर भाजपा ने फिर छोड़े 150 जुमले : दुष्यंत चौटाला

दुष्यंत ने पूरे भाजपा घोषणापत्र का अध्ययन कर इसमें लगभग 25 विसंगतियां गिनवाई और कहा कि लगभग इतनी ही बातें और हैं जो इस घोषणापत्र को जुमलापत्र बनाती हैं।

दुष्यंत चौटाला के अनुसार भाजपा घोषणापत्र में विसंगतियां इस प्रकार हैं:-

  • 5000 करोड़ ब्याज माफी की चुनावी घोषणा को अगले 5 साल में पूरा करने का लक्ष्य, जबकि 2 महीने पहले हरियाणा सरकार ने घोषणा कर दी थी कि माफ कर दिया।
  • किसानों को राज्य सरकार द्वारा 6 हजार रुपये सालाना देने पर यू टर्न। घोषणापत्र में लिखा गया है कि इस राशि को योजनाओं पर खर्च किया जाएगा और अगर कुछ बचा तो किसानों के खाते में डाला जाएगा।
  • भाजपा ने 2014 की तरह फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने का इरादा जाहिर किया है। यानी भाजपा ने मान लिया कि एमएसपी पर खरीद नहीं हो रही इसीलिए फिर से लक्ष्य रखा गया है।
  • किसानों के लिए आफत बन चुकी ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ योजना की नकेल सभी किसानों और सभी फसलों पर कसने का इरादा जाहिर किया है जबकि इन्हीं दिनों बहुत से किसान इस फरमान की वजह से परेशान हो रहे हैं।
  • मंडी में आई फसलों का बीमा करेंगे, लेकिन यह नहीं बताया गया कि प्रीमियम कौन देगा। क्या निजी कम्पनियों का कारोबार और बढ़ाने के लिए किसानों के खातों से और पैसे काटेगी सरकार ?
  • SYL नहर पर गोलमोल बात की गई है। केंद्र में सरकार होने के बावजूद स्पष्ट वादा नहीं, यानी नीयत में खोट है।
  • आउटसोर्सिंग को लेकर सिर्फ डीसी रेट दिलवाने का लक्ष्य रखा गया है। यानी ठेकेदारी प्रथा जारी रहेगी और आज के दिन डीसी रेट तक ना मिल पाने की बात स्वीकारी गई है।
  • सरकारी नौकरियों की परीक्षा से पहले कॉमन पात्रता परीक्षा लेने का वादा। यानी HTET की तरह एक और परीक्षा।
  • युवाओं से पैसे वसूलने और बसों में धक्के खिलवाने, जान गंवाने का एक और इंतज़ाम करना चाहती है भाजपा।
    हर गांव में खेल स्टेडियम और कोच की नियुक्ति कर 2014 का वादा फिर से दोहराया गया है।
Dushyant Chautala
2014 के 75 वादे अधूरे छोड़कर भाजपा ने फिर छोड़े 150 जुमले : दुष्यंत चौटाला (File Photo)

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इसके अलावा भी 20-25 अन्य ऐसी घोषणाएं की गई हैं जो पहले से चल रही हैं। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा नेताओं ने झूठ बोलने का रिकॉर्ड अपनी पार्टी के सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज में भी कायम रखा है लेकिन लोग अब इनके बहकावे में नहीं आएंगे

यह भी पढ़ें : VIDEO : सीएम खट्टर का विवादित बयान, सोनिया गांधी को लेकर कह डाली ये बात

—PTC NEWS–