विधानसभा सत्र पर बोले जेपी दलाल- किसान व किसानी के लिए कहीं भी चर्चा को तैयार

JP Dalal on Assembly Session
विधानसभा सत्र पर बोले जेपी दलाल- किसान व किसानी के लिए कहीं भी चर्चा को तैयार

चंडीगढ़। हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि सरकार की नीतियां व नीयत विकास के काम करने की है तथा केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल का नेतृत्व एक सक्षम नेतृत्व है। किसान हित में पारित तीन कृषि अध्यादेशों के नाम पर विपक्ष किसानों को बहकाने व भटकाने का जो कार्य कर रहा है, वह केवल मीडिया की हैडलाइन बनने व अपनी राजनीति बचाने के लिए है। दलाल आज यहां एक पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।

JP Dalal on Assembly Session
विधानसभा सत्र पर बोले जेपी दलाल- किसान व किसानी के लिए कहीं भी चर्चा को तैयार

एक प्रश्न के उत्तर में दलाल ने कहा कि आज 21वीं सदी का युवा तेजी से विकास चाहता है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पड़ने वाले हरियाणा के सभी जिलों में अभूतपूर्व विकास हुआ है। गोहाना व बरोदा से दो नए राष्ट्रीय राजमार्ग निकल रहे हैं, जो इस क्षेत्र में विकास का नया अध्याय जोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी का उम्मीदवार निश्चित रूप से जीतेगा। बरोदा विधानसभा क्षेत्र में 54 गांव पड़ते हैं और यह पूरी तरह से ग्रामीण क्षेत्र है। लोगों ने हमें आशीर्वाद दिया है।

यह भी पढ़ें- Micromax की भारतीय बाजार में वापसी, लांच किए दो नए Smartphone, जानें कीमत

JP Dalal on Assembly Session
विधानसभा सत्र पर बोले जेपी दलाल- किसान व किसानी के लिए कहीं भी चर्चा को तैयार

educareकल से आरम्भ हो रहे हरियाणा विधानसभा के सत्र की तैयारियों के सम्बन्ध में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में दलाल ने कहा कि किसान व किसानी के लिए वे कहीं भी चर्चा को तैयार हैं, चाहे वह विधानसभा सदन हो या बाहर। इनेलो द्वारा कृषि अध्यादेशों पर प्राइवेट बिल लाए जाने की सम्भावनाओं पर दलाल ने कहा कि किसान हित में सरकार हमेशा अच्छे सुझावों पर विचार के लिए तैयार है।

यह भी पढ़ें- हरियाणा के युवाओं को नौकरी देने वाले उद्योगों को मिलेगी 48 हजार की सब्सिडी: डिप्टी सीएम

JP Dalal on Assembly Session
विधानसभा सत्र पर बोले जेपी दलाल- किसान व किसानी के लिए कहीं भी चर्चा को तैयार

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में दलाल ने कहा कि नए अध्यादेशों से न तो किसानों को नुकसान है और न ही मण्डियां बंद हो रही हैं। केवल नुकसान है तो बिचौलियों को।