राजनीति

कदम-कदम पर संघर्ष कर रहे किसान, फिर भी नसीब नहीं हो रही DAP खाद

By Poonam Mehta -- October 23, 2021 6:10 pm -- Updated:Feb 15, 2021

चंडीगढ़: दीपेंद्र हुड्डा ने खाद की भयंकर किल्लत पर गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में हालत चिंताजनक हैं। किसान को कदम-कदम पर संघर्ष करना पड़ रहा है। सरकार आखिर किसान से किस जन्म की दुश्मनी निकाल रही है। प्रदेश सरकार खाद की किल्लत न होने के झूठे दावे कर रही है, जबकि खाद के लिए किसानों की लंबी-लंबी कतारों की खबरें हर जिले हर गांव से आ रही हैं।

Deepender Singh Hooda asks 15 questions from BJP-JJP government

ऐसे में सरकार स्पष्ट करे कि अगर किल्लत नहीं है तो थानों से टोकन क्यों बंट रहे हैं। उन्होंने तुरंत डीएपी की किल्लत दूर करने और किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध कराने की मांग की। प्रदेश की 62 को ऑपरेटिव मार्केटिंग सोसायटी और करीब 600 पैक्स समितियों में भी खाद उपलब्ध नहीं है। हालत इस कदर खराब हैं कि पूरे प्रदेश में खाद किल्लत और खाद के लिये लगी लम्बी-लम्बी कतारों की ख़बरें और तस्वीरें परेशान करने वाली हैं।

MBBS Fees Increase  

पुलिस के पहरे में लाइने लगवाई जा रही हैं थानों से डीएपी के लिए टोकन बांटे जा रहे हैं। कहीं तो खाद लेने आये किसानों पर लाठियां बरसाने की भी खबरें आ रही हैं। कई दिन से घंटों लाइन में लगे किसान पूरे परिवार समेत यहाँ-वहां भटकने को मजबूर हैं। आधी रात से पूरे दिन लाइन में लगने के बाद भी किसानों को खाद नहीं मिल पा रही है। खाद किल्लत की हकीकत ये है कि दिन ही नहीं, बल्कि किसान रात से ही डीएपी केन्द्र पर आकर लाइन लगा लेते हैं फिर भी डीएपी नसीब नहीं हो रही।

-PTC NEWS

  • Share