हरियाणा सरकार के दावों की झज्जर में खुली पोल

By Arvind Kumar - November 09, 2020 2:11 pm

झज्जर। (प्रवीण अहलावत) एक तरफ तो हरियाणा सरकार दावा कर रही है कि 72 घंटों में किसानों की फसल का पैसा सीधे उनके खाते में आएगा और दूसरा सरकार हर किसान का दाना दाना खरीदेगी, इन दोनों दावों की झज्जर में पोल खुलती हुई नजर आ रही है।
झज्जर में किसानों को अनाज मंडी में बाजरे की फसल बेचे हुए कई दिन हो चुके हैं लेकिन अभी तक किसान परेशान हैं कि उनके खातों में उनकी फसल के पैसे नहीं आए हैं और वह लगातार शिकायत देकर भी थक चुके हैं।

यह भी पढ़ें- बाइडन का राष्ट्रपति बनना भारत के लिए क्या मायने रखता है?

Crop Purchasing Haryana हरियाणा सरकार के दावों की झज्जर में खुली पोल

किसानों के मुताबिक अगर उनकी फसल का पैसा समय पर नहीं आया तो उनके लिए बेहद संकट की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। उन्होंने बताया कि अब उन्हें आगामी गेहूं की फसल की बिजाई की भी तैयारी करनी है लेकिन उनके पास पैसा नहीं है।

Crop Purchasing Haryana हरियाणा सरकार के दावों की झज्जर में खुली पोल

वहीं एक अन्य किसान के मुताबिक उन्होंने तकरीबन 10 एकड़ में बाजरे की फसल लगाई थी जो कि तकरीबन 200 क्विंटल बैठती है लेकिन ऑनलाइन पंजीकरण करवाने के बाद भी आज तक उनके पास मैसेज नहीं आया है।

यह भी पढ़ें- हरियाणा: शादियों का ‘शौकीन’ NRI दूल्हा गिरफ्तार

Crop Purchasing Haryana हरियाणा सरकार के दावों की झज्जर में खुली पोल

आपको बता दें कि 14 तारीख के बाद सरकार बाजरे की खरीद बंद कर देगी और ऐसे में यदि किसानों के पास मंडियों में फसल लेकर आने का मैसेज नहीं आता तो किसानों को मजबूरन प्राइवेट हाथों में सस्ते दामों पर अपनी फसल बेचने की पड़ेगी।

adv-img
adv-img